कोरोना अपडेट
कुल केस
0
स्वस्थ हुए
0
मौत
0
हर राज्य के कोरोना अपडेट के लिए क्लिक करे

वो घटना जिसने कमल सदाना के जन्मदिन को मातम में बदल लिया था

21 Oct, 2020 10:19 AM | R Kumar 12

कैसा लगता है अगर आपके माता-पिता और बहन आपके जन्मदिन पर एक साथ मर जाते हैं। यह सोचने के बाद भी आत्मा कांपती है। सोचिये कि आपके जीवन में घटित एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना आपको कैसा दुर्भाग्य का अनुभव कराएगी। यह एक अभिनेता की सच्ची कहानी है। इस अभिनेता का नाम कमल सदाना है। कमल, जिन्होंने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत फिल्म 'बेखुदी' से की थी। 21 अक्टूबर 1970 को जन्मे इस अभिनेता का आज जन्मदिन है। आज हम उनके बारे में ऐसी कहानियां बताएंगे जिससे आपकी यादें एक बार फिर से जीवंत हो जाएंगी। वर्ष 1992 में प्रदर्शित उनकी फिल्म 'बेखुदी'। काजोल ने इस फिल्म में उनके साथ अभिनय किया।



वह अब 49 साल के हैं और उनकी फिल्म की यादें धुंधली हैं। अभिनय छोड़ कर उनका निधन हो गया। इससे पहले, कमल ने एक साक्षात्कार में अपनी पहली फिल्म का एक किस्सा साझा किया। उन्होंने बताया, 'इस फिल्म के दृश्य में मैंने काजोल के भाई को मार डाला। इस बात से नाराज होकर काजोल को मुझे मारना पड़ा। ' कमल ने आगे कहा, 'इस सीन को एक बार में सही तरीके से शूट नहीं किया गया और इसके लिए निर्देशक ने 10 रीटेक लिए। काजोल से लगातार थप्पड़ खाने के बाद मेरा चेहरा लाल हो गया। ' जब यह फिल्म रिलीज़ हुई, तो यह कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाई, लेकिन इसके बाद कमल ने फिल्म 'रंग' में काम किया।
फिल्म 'रंग' ने बॉक्स ऑफिस पर खूब कमाई की। इस फिल्म से कमल का करियर चमक गया, लेकिन बाद के फिल्मों में उनका ग्राफ गिरता रहा। इस कारण से, वह खुद को एक नायक के रूप में स्थिर नहीं कर सका। उनका वास्तविक जीवन बहुत दुखद था। कमल के 20 वें जन्मदिन पर, उनके पिता बृज सदाना ने उनकी मां और बहन को गोली मार दी।

अन्य समाचार