कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:
Live Update: बिहार के हर जिला का कोरोना अपडेट, टीकाकरण और टेस्ट का डाटा देखे

चुनाव परिणाम देखने को ले लोग टीवी व मोबाइल पर लगाए हुए थे टकटकी

संवाद सूत्र,नारदीगंज ; बिहार विधानसभा चुनाव 2020 का वोटों की गिनती मंगलवार को शुरू हुई। वोटों की गिनती शुरू होते ही प्रत्याशियों के भाग्य का पिटारा खुलने लगा। नवादा जिले में 28 अक्टूबर को चुनाव सम्पन्न हुआ था। जिसमें नवादा जिले के पांचों विधानसभा चुनाव में 70 उम्मीदवारों ने चुनावी दंगल में अपना भाग्य अजमा रहे थे। जिसमें कई दिग्गजों की भी प्रतिष्ठा भी दांव पर थी। वहीं नवादा विधानसभा में 15 उम्मीदवार चुनाव मैदान में ताल ठोक रहे थे। सतापक्ष के कौशल यादव,पूर्व राज्यमंत्री राजवल्लभ प्रसाद की पत्नी विभा देवी समेत 15 प्रत्याशी एक दूसरे को पटकनी देने के लिए चुनावी समर में थे। चुनाव का नतीजा जानने के लिए हर कोई बैचेन रहा। जीत हार के वोटों की गिनती को देखने के लिए लोग नारदीगंज बाजार स्थित साइबर कैफे के अलावा टीवी,मोबाइल पर लोग टकटकी लगाए हुए थे। कौन जीत रहा है, कौन हार रहा इसे जानने के लिए दूर देहात में भी लोग उत्सुक रहे। हालत यह हो रही थी कि जिनके नेता वोटों की गिनती में आगे बढ़ते सुन खुश होकर तालियां पीट रहे थे गिनती में पीछे हो जाने पर समर्थक निराश भी हो रहे रहे थे। पार्टी के समर्थकों के साथ अन्य लोग भी अपने अपने नेता की जीत के लिए उपर वाले से दुआ की कामना भी करते रहे। यही नहीं अधिकारिक जानकारी के लिए लोग मोबाइल से सम्पर्क करके एक दूसरे से पूछ रहे थे, कि किसकी सरकार बन रही है, कौन जीत रहा है। जब महागठबंधन उम्मीदवारों के जीत का आंकड़ा बढ़ता तो उनके समर्थक खुश होकर कहने लगते इस बार बदलाव होगा, महागठबंधन सरकार बनेगी और तेजस्वी यादव होंगे,वही जब एनडीए की बढ़त होती थी,तो उनके समर्थकों के मुंह से आवाज निकले लगती कि इसबार भी नीतीशे की सरकार होगी ,साथ ही साथ मिठाई खाने व खिलाने का भी लोग शर्त लगा रहे थें। जीत के उपरांत समर्थक व कार्यकर्ताओं ने बधाई देकर शुभकामनाएं दी।



खबर फाइल 3 का संशोधित : नवादा में महागठबंधन की बल्ले-बल्ले यह भी पढ़ें
डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

अन्य समाचार