कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:
Live Update: बिहार के हर जिला का कोरोना अपडेट, टीकाकरण और टेस्ट का डाटा देखे

कृषि एवं पशुपालन में नवीन तकनीकों की जानकारी किसानों के लिए जरूरी

संसू, कौआकोल : प्रखंड के सर्वोदय आश्रम सोखोदेवरा में सोमवार को कृषि विज्ञान केंद्र, ग्राम निर्माण मंडल के सौजन्य से किसान सलाहकारों का कृषि एवं पशुपालन में नवीन तकनीक विषयक तीन दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण का शुरुआत किया गया। प्रशिक्षण सत्र का उदघाटन पशु वैज्ञानिक डॉ. धनन्जय कुमार,कृषि वैज्ञानिक डॉ. जयवंत कुमार सिंह, विकास कुमार, रविकांत चौबे आदि ने संयुक्त रूप से द्वीप प्रज्ज्वलित कर किया। प्रशिक्षण में जिले के अलग-अलग प्रखंड से चयनित 40 किसान सलाहकार हिस्सा ले रहे हैं। कृषि वैज्ञानिक डॉ. जयवंत कुमार सिंह एवं पशु वैज्ञानिक डॉ. धनन्जय कुमार ने किसान सलाहकारों को संबोधित करते हुए कहा कि ग्रामीण इलाकों में आज भी बहुत सारे किसान परंपरागत तरीके से खेती और पशुपालन कार्य कर रहे हैं। जिससे किसानों को नई तकनीकों का समुचित लाभ नहीं मिल पा रहा है। कृषि एवं पशुपालन को आगे बढ़ाने के लिए ही किसान सलाहकारों को इस तरह का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। ताकि वे प्रशिक्षण के दौरान कृषि एवं पशुपालन के क्षेत्र में प्राप्त नई तकनीकी जानकारी को ग्रामीण क्षेत्र में जाकर किसानों के बीच पहुंचाने का काम करें,जिससे कि किसान लाभान्वित हो सके। कृषि वैज्ञानिकों ने कहा कि बदलते परिवेश में खेती की पुरानी परंपरा एवं पद्धति में बदलाव बहुत ही जरूरी है। कुछ साल पहले तक जिस खेती-किसानी एवं पशुपालन की तरफ युवाओं का बिल्कुल रुझान नहीं था,आज बड़ी-बड़ी डिग्रियां लेने वाले युवा भी उन्नत खेती कर रहे हैं। किसानी एवं पशुपालन में भी कैरियर की असीमित सम्भावनाएं हैं। कृषि में डिग्री ले रहे युवाओं को रोजगार के लिए भटकने के बजाय आधुनिक कृषि तकनीक को अपनाने की जरूरत है। मौके पर सुमिताप रंजन,पिटू पासवान आदि मौजूद थे।




डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

अन्य समाचार