कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:
Live Update: बिहार के हर जिला का कोरोना अपडेट, टीकाकरण और टेस्ट का डाटा देखे

नवादा में चार और लोगों की हुई मौत, 16 पहुंचा मृतकों का आंकड़ा

- डीएम-एसपी ने माना दस की हुई मौत, लेकिन शराब की पुष्टि नहीं



- पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रहा जिला प्रशासन
----------------
संवाद सहयोगी, नवादा : जिले के नगर थाना क्षेत्र में कथित तौर पर शराब से मरने वालों का सिलसिला जारी है। लगातार तीसरे दिन शुक्रवार को चार और लोगों की मौत हो गई। मृतकों में गोंदापुर निवासी संजय यादव का 16 वर्षीय पुत्र आकाश कुमार, कन्हाई नगर मोहल्ला निवासी रामधनी साव, न्यू एरिया वार्ड नंबर छह के निवासी रामोतार सिंह का पुत्र मुन्ना कुमार और बबलू कुमार शामिल है। आकाश व रामधनी के शवों का पोस्टमार्टम सदर अस्पताल नवादा में कराया गया। जबकि मुन्ना के शव का पोस्टमार्टम एनएमसीएच पटना में कराया गया है। इधर मृतक बबलू के स्वजनों ने शराब से मौत को सिरे से खारिज किया है। बहरहाल, जिले में मरने वालों का आंकड़ा 16 पर पहुंच गया है। सभी मृतक नगर थाना क्षेत्र के गोंदापुर, बुधौल, खरीदी बिगहा, सिसवां और नगर क्षेत्र के रहने वाले हैं। वैसे जिला प्रशासन ने 10 लोगों की मौत होने की बात कही है। डीएम यश पाल मीणा ने कहा कि अलग-अलग तिथियों में मौत की घटना हुई है। जिसमें पांच लोगों की मौत अलग-अलग बीमारी से हुई है। वहीं दो मृतकों के स्वजनों ने शराब से मौत की जानकारी दी है, लेकिन शव का पोस्टमार्टम नहीं कराया गया। जबकि तीन शवों का पोस्टमार्टम कराया गया है। बेसरा जांच के लिए पटना भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद मौत के कारणों की सही जानकारी मिल सकेगी। बहरहाल, जिले में लगातार हो रही मौत के बाद जिला प्रशासन सकते में है। जांच के लिए एसआइटी का गठन किया गया है। वहीं जिन इलाकों में मौतें हुई हैं, वहां शराब को लेकर छापेमारी तेज कर दी गई है। गोंदापुर में गेहूं की खेत से देसी शराब की तकरीबन दो दर्जन पाउच बरामद की गई है। कई थानों की पुलिस और उत्पाद विभाग की टीम छापेमारी कर रही है। दूसरी ओर स्थानीय ग्रामीणों में मौत को लेकर आक्रोश बढ़ता ही जा रहा है। लोगों का कहना है पुलिस शराब धंधेबाजों पर कार्रवाई नहीं कर रही है। गौरतलब है कि होली के अवसर पर शराब पीने से कई लोगों के बीमार पड़ने और मौत होने की बात सामने आ रही है। 31 मार्च को नौ, 1 अप्रैल को तीन और 2 अप्रैल को चार लोगों की मौतें हो चुकी हैं। जबकि अभी भी कुछ लोगों का इलाज निजी अस्पताल में चल रहा है।

- आश्रितों को बीस लाख रुपये मुआवजा और सरकारी नौकरी देने की मांग
संस, नवादा : नवादा विधायक विभा देवी शुक्रवार को मृतकों के घर पहुंची। उन्होंने मृतकों के स्वजनों से घटना के संबंध में पूरी जानकारी ली और दुख की घड़ी में साथ खड़े होने का भरोसा दिया। विधायक ने गोंदापुर, खरीदी बिगहा, सिसवां और बुधौल गांव जाकर मृतक के आश्रितों का आंसू पोछा। उन्होंने घटना को दुखद बताते हुए शासन-प्रशासन पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि शराब से मौत हो रही है। लेकिन डायरिया और अन्य बीमारी से मरने की बात कही जा रही है। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि कहां शराबबंदी है। उन्होंने मृतकों के आश्रितों को बीस-बीस लाख रुपये मुआवजा देने और सरकारी नौकरी देने की भी मांग की। साथ ही पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग की है। उन्होंने कहा कि प्रशासन तानाशाही कर रही है। सिसवां में मृतक गोपाल के स्वजनों को धमकी दी जा रही है। उनसे जबरन यह लिखवाया गया कि शराब से मौत नहीं हुई है। जबकि पूरा परिवार चीख-चीख कर शराब से मौत की बात कह रहा है। उन्होंने मृतक रामदेव यादव, आकाश यादव, गोपाल सिंह, धर्मेंद्र कुमार, शैलेंद्र यादव, आंख की रोशनी गंवाने वाले चमारी चौधरी आदि के स्वजनों से मुलाकात की। मौके पर राजद जिलाध्यक्ष महेंद्र यादव, जिला उपाध्यक्ष, प्रिस तमन्ना, प्रखंड अध्यक्ष संजय यादव, रतन यादव, वाल्मीकि यादव, तरुण राजवंशी, उमेश चौधरी, शेर अली खां, विक्रम कुमार आदि उपस्थित थे।
शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

अन्य समाचार