कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

अजहरुद्दीन ने दिखाया अपना लक्की बल्ला, इसी बल्ले से बनाया था वर्ल्ड रिकॉर्ड, अभी तक नहीं तोड़ पाया कोई बल्लेबाज

23 May, 2021 05:49 PM | Saroj Kumar 664

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन इन दिनों अपनी पुरानी यादों में खोये हुए हैं. उन्होंने अपने क्रिकेट कैरियर के सुनहरे पन्नों को पलटकर देखना शुरू किया है. जिसमें उन्हें एक ऐसी तसवीर मिली है, जिसे वो अपने जीवन में कभी नहीं भूल सकते.


दरअसल टीम इंडिया के सबसे सफल कप्तानों में शामिल अजहरुद्दीन ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर एक पुरानी तसवीर शेयर की है, जिसमें वो टीम इंडिया की जर्सी पहने अपने लक्की बल्ले को निहार रहे हैं.
अजहर ने उस तसवीर को शेयर करते हुए अपने फैन्स को ये भी बताया कि उनका ये बल्ला लक्की क्यों है. दरअसल अजहर ने उसी बल्ले से अपने टेस्ट कैरियर का बड़ा रिकॉर्ड अपने नाम किया था. शुरुआती तीन टेस्ट में लगातार शतक का रिकॉर्ड अजहर ने इसी बल्ले से बनाया.
अजहरुद्दीन के उस रिकॉर्ड को अब तक कोई बल्लेबाज नहीं तोड़ पाया है. उन्होंने तसवीर शेयर करते हुए लिखा, मैंने इसी बल्ले से टेस्ट डेब्यू में लगातार तीन टेस्ट शतक का वर्ल्ड रिकॉर्ड 1984-85 में इंग्लैंड के खिलाफ बनाया था. उन्होंने आगे बताया कि उस सीरीज में उन्होंने इसी बल्ले से 800 से अधिक रन भी बनाये.


अजहर को उनके दादा जी ने दिया था गिफ्ट


अजहर ने ट्वीट कर यह भी बताया कि उनके इस लक्की बल्ले को उनके दादा जी ने गिफ्ट किया था.


गौरतलब है कि अजहर ने इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच में डेब्यू किया था. जो की 31 दिसंबर 1984 से 5 जनवरी 1985 के बीच कोलकाता के ईडन गार्डन्स में खेला गया था. अपने डेब्यू मैच में ही अजहर ने 110 रन की शतकीय पारी खेली थी. उसके बाद चेन्नई में चौथे टेस्ट में उन्होंने पहली पारी में 48 और दूसरी पारी में 105 रन की शतकीय पारी खेली. फिर कानपुर में पांचवें टेस्ट में उन्होंने 122 रन की शतकीय पारी खेली और दूसरी पारी में नाबाद 54 रन बनाये.


अजहर का क्रिकेट कैरियर


अजहर ने भारत के लिए 99 टेस्ट और 334 वनडे मैच खेले हैं. जिसमें उन्होंने 22 शतक और 21 अर्धशतक की मदद से 6215 रन बनाये. जबकि वनडे में 7 शतक और 58 अर्धशतक की मदद से 9378 रन बनाये.

अन्य समाचार