कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

लगान Vs गदर पर बोले आमिर खान- 'ये एक सुनामी थी, जिसे देखने के लिए लोग ट्रक से पहुंच रहे थे'

मुंबईः आज से 20 साल पहले बॉक्स ऑफिस पर भारतीय सिनेमा के इतिहास की सबसे बड़ी भिड़ंत देखने को मिली थी. यह भिड़ंत थी बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान की 'लगान' और सनी देओल (Sunny Deol) की 'गदर' को लेकर. दोनों फिल्मों ने एक ही दिन सिनेमाघरों में दस्तक दी थी. दोनों ही फिल्में अपने आप में बेहद खास थीं. लगान (Lagaan) से जहां आमिर खान ने बतौर निर्माता भी अपने करियर की शुरुआत की थी. जहां 'गदरः एक प्रेम कथा (Gadar: Ek Prem Katha)' को लेकर दर्शकों में जबरदस्त पागलपन देखने को मिला तो वहीं लगान ने ढेरों अवॉर्ड अपने नाम किए. हालांकि, आमिर खान (Aamir Khan) आज भी इस बात को लेकर दुखी हैं कि फिल्म को ऑस्कर नहीं मिल सका.



हाल ही में एक वर्चुअल इन्टरैक्शन के दौरान आमिर खान ने लगान से जुड़े कई किस्सों को याद किया. उन्होंने लगान और गदर की भिड़ंत को याद करते हुए कहा- 'मेरा मानना ​​है कि जब दो या दो से अधिक फिल्में एक ही दिन रिलीज होती हैं, तो ये तभी अच्छा प्रदर्शन करती हैं, जब ये अच्छी तरह बनाई जाती हैं. यह सनी देओल और मेरा एक इतिहास है. दिल और घायल भी एक ही दिन रिलीज हुईं और उन्होंने भी अच्छा प्रदर्शन किया. गदर और लगान ने अच्छा प्रदर्शन किया. राजा हिंदुस्तानी की रिलीज के आसपास सनी की भी एक फिल्म थी, जिसका नाम अभी मुझे याद नहीं है.'
आमिर आगे कहते हैं- 'तो मैंने आशुतोष गोवारिकर से कहा कि एक अच्छी फिल्म के लिए तैयार रहो. मैं फिल्म के प्रोड्यूसर से एक बार मिला था और उन्होंने मुझे फिल्म की रूपरेखा बताई थी. इसलिए मैं जानता था कि यह एक अच्छी फिल्म होगी. मैं गदर के लिए तैयार था, लेकिन जिस चीज के लिए तैयार नहीं था वह था 'राक्षस' जो कि यही फिल्म थी. गदर देखने के लिए लोग ट्रक से सफर कर रहे थे. इसे देखने वालों की संख्या लगान से 3 से 4 गुना अधिक रही होगी.'
'गदर सुनामी थी. अगर लगान, गदर से एक प्रतिशत भी कम होती तो हमें कहीं मौका नहीं मिलने वाला था. ये बात अच्छी थी कि दोनों ही फिल्मों ने अच्छा प्रदर्शन किया और सभी का प्यार मिला. लगान ने भले ही अच्छा कारोबार नहीं किया हो, लेकिन इसे प्यार बहुत मिला है.'

अन्य समाचार