कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

नवादा जिले में ट्रामा सेंटर की व्यवस्था नहीं, लोग परेशान

नवादा: केंद्र व राज्य सरकार की ओर से स्वास्थ्य व्यवस्था में सुधार लाने के लिए लगातार प्रयास किया जा रहा है। इसके लिए कई योजनाएं चलाई जा रही है। योजना के माध्यम से अस्पताल भवन निर्माण से लेकर रोगियों के इलाज की समुचित सुविधा उपलब्ध कराया जा रहा है। शहर व ग्रामीण इलाकों में स्वास्थ्य केंद्र खोले जा रहे हैं। स्वास्थ्य व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए करोड़ों रुपये खर्च किए जा रहे हैं। लेकिन अबतक जिले में ट्रामा सेंटर की व्यवस्था नहीं की गई है।



बता दें कि विभागीय नियमानुसार राष्ट्रीय राजमार्ग व स्ट्रेट हाइवे वाले इलाके में ट्रामा सेंटर खोलने का प्रावधान है। सड़क दुर्घटना व आकस्मिक घटना होने पर घायल होने वाले रोगियों का सेंटर में इलाज होना है। जबकि नवादा जिले में पटना-रांची राष्ट्रीय राजमार्ग 31 और राजगीर-गया राजमार्ग 82 समेत अन्य स्टेट हाइवे सड़कें हैं। इन सड़कों पर 24 घंटे छोटे-बड़े वाहनों का परिचालन होता है। आए दिन सड़क दुर्घटना होती है। और कई लोग दुर्घटना के शिकार होते रहते हैं। लेकिन ऐसे रोगियों के इलाज के लिए अबतक जिले में ट्रामा सेंटर की व्यवस्था नहीं की गई है। इसके कारण घायल रोगियों को इलाज की समुचित सुविधा नहीं मिल पा रही है। रोगियों को इलाज कराने में काफी परेशानी उठानी पड़ रही है।

---------------------------
टा्रमा सेंटर है क्या
- स्वास्थ्य विभाग की ओर से घटना-दुर्घटना में घायल होने वाले रोगियों के इलाज के लिए ट्रामा सेंटर का संचालन किया जा रहा है। सेंटर में सिर्फ घायल रोगी का ही इलाज होता है। लेकिन जिले में टा्रमा सेंटर नहीं होने से घायल रोगियों का इलाज पीएचसी, अनुमंडल व सदर अस्पताल में किया जा रहा है। ऐसे में रोगी की हालत गंभीर होने पर परेशानी बढ़ जाती है। रोगियों को इलाज के लिए बाहर जाना पड़ता है।
----------------------------
कहते हैं अधिकारी
- सरकार द्वारा स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से घायल रोगियों के इलाज के लिए ट्रामा सेंटर का संचालन किया जाता है। जिसमें घायल रोगियों के इलाज की समुचित व्यवस्था होती है। घटना-दुर्घटना होने पर घायल रोगियों की भर्ती की जाती है। और त्वरित इलाज की सुविधा उपलब्ध कराने का प्रावधान है। फिलहाल जिले में टा्रमा सेंटर की व्यवस्था नहीं है। स्वास्थ्य विभाग की बैठक में जिलाधिकारी द्वारा अकबरपुर प्रखंड के फतेहपुर मोड़ के आस-पास निर्माण कराने पर चर्चा की गई थी। ऐसे घायल व अन्य रोगियों को इलाज की समुचित व्यवस्था उपलब्ध करायी जा रही है।
निर्मला कुमारी, सिविल सर्जन नवादा।

अन्य समाचार