कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

संतमत सत्संग में भक्ति रस से ओत-प्रोत रहे श्रद्धालु


सीजन सेल में लैपटॉप और मोबाइल पर पाए 50 % तक डिस्काउंट, click करे लिंक पर



----------------------------------------------- संवाद सूत्र, कटैया- निर्मली (सुपौल) : कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर पिपरा प्रखण्ड के तुलापट्टी स्थित पंचायत सरकार भवन के पास आयोजित 9 दिवसीय संतमत सत्संग के चौथे दिन मंगलवार को भक्ति रस में श्रद्धालु ओत-प्रोत हो गए। महर्षि मेंही आश्रम कुप्पाघाट से आए परम पूज्य स्वामी गुरुनंदन बाबा ने सत्संग ज्ञान गंगा को अमृत बताते हुए कहा कि अमृत है बातों की बात, अमृत है संतों के पास, दरिया जा के नाम अनंत जाको पीके अमर भये संत। कहा जो कोई संतों के कथा रूपी अमृत का पान कर लेता है उसका मानव जीवन मंगलमय हो जाता है। उन्होंने कहा कि मानव सुख पाने के लिए हर यतन कर रहे हैं लेकिन फिर भी दुखी हैं। उस दुख को दूर करने के लिए संतों की बातों का अनुसरण करना होगा। इसलिए कहा गया संत शरण जी जन पड़े सो जन उधारण, हार संत कि निदा मान का बहुड़ी-बहुड़ी अवतार। भगवान तो भाव के भूखे हैं जो सच्चे दिल से याद करेंगे उनको वे अवश्य ही मिलेंगे। उन्होंने कहा जो भक्त सत्संग में भाग लेते हैं वह भवसागर को पार कर जाते हैं। उन्होंने कहा ईश्वर ने मानव रूपी शरीर दिया है यह मानव शरीर पूर्व जन्मों की कठिन तपस्या से प्राप्त होता है। कहा कि मानव को अपना जीवन व्यर्थ नहीं जाने देना चाहिए अपने दैनिक कार्यों में लीन रहते हुए समय निकालकर भगवत भजन में शामिल होना चाहिए ताकि मन को शांति व आत्म सुख प्राप्ति हो सके। सत्संग प्रवचन में मंच संचालन लक्ष्मण मंडल ने किया। सत्संग प्रवचन में सीताराम मंडल, सरयुग मंडल, नागेश्वर मंडल, मनोरंजन साह, सुरेन्द्र प्रसाद मंडल, मोहन यादव,नागो यादव आदि मंचासीन थे। आयोजन समिति के सदस्य ने बताया कि 28 नवम्बर तक सत्संग प्रवचन, 29 नवम्बर को घोड़ा रेस, 30 नवम्बर से 3 दिसम्बर तक कुश्ती प्रतियोगिता एवं रामलीला तथा 4 दिसम्बर को सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा.

अन्य समाचार