कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

कृषि कानून वापस लिए जाने की खुशी में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने निकाला जुलूस

मधेपुरा। केंद्र सरकार द्वारा तीन कृषि कानून वापस लिए जाने की खुशी में
सीजन सेल में लैपटॉप और मोबाइल पर पाए 50 % तक डिस्काउंट, click करे लिंक पर



जिला कांग्रेस कमेटी की ओर से मंगलवार शहर में विजय जुलूस निकाला गया। विजय जुलूस कांग्रेस कार्यालय से निकल पूर्वी वाईपास,समाहरणालय होते हुए बीपी मंडल गोलंबर पर जाकर समाप्त हो गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए जिला कांग्रेस अध्यक्ष सत्येंद्र कुमार सिंह यादव ने कहा कि मोदी सरकार का सत्ता का अभिमान आखिरकार टूट गया। किसानों के द्वारा जारी संघर्ष के आगे सरकार को झुकना पड़ा। उन्होंने कहा कि कृषि कानून वापस होने से किसान के साथ साथ संविधान की भी जीत हुई है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा लाये गए तीनों कृषि बिल के विरोध में देश के किसान पिछले एक वर्ष से गांधीवादी तरीके से आंदोलन पर डटे थे। देश के किसानों के हित में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी तीनों कृषि कानून का विरोध करते हुए बिल वापस होने तक किसानों के साथ खड़े थे। यह कहकर कि सरकार जबतक तीनों कानून वापस नही लेगी तबतक कांग्रेस आवाज उठाती रहेगी। उन्होंने कहा कि कृषि कानून के खिलाफ आंदोलनरत किसानों में लगभग एक हजार किसानों की मौत हो गई। कांग्रेस पार्टी उन सभी मृत किसानों को शहीद का दर्जा एवं उनके परिवार को राष्ट्रीय सम्मान देने की मांग करती है। उपचुनाव में भाजपा सरकार की करारी हार एवं आने वाले पांच राज्यों के चुनाव को देखकर प्रधानमंत्री मोदी ने डरकर तीनों कृषि कानून वापस लेने की घोषणा की। मौके पर प्रो अरुण कुमार,विष्णुदेव यादव,अनिल कुमार सिंह जैनवार, सूर्यनारायण राम,धर्मेंद्र कुमार साह, शत्रुघ्न भगत,प्रमोद कुमार,पप्पू कामेश्वर सिंह,खोखा सिंह,नसीम खान,विष्णुदेव सिंह,राजेंद्र चौधरी,डॉ सुनंदा,कामेश्वर यादव,राजीव ठाकुर, भूषण मंडल,अखिलेश यादव,उत्कर्ष गौतम,निरंजन झा,राजकिशोर सहित अन्य कांग्रेसजन मौजूद थे।

अन्य समाचार