कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

अलौली में लगातार मिल रहे हैं कालाजार मरीज

खगड़िया। खगड़िया कालाजार से प्रभावित जिला है। इस वर्ष भी यहां 15 केस मिले हैं। जिसमें सर्वाधिक अलौली प्रखंड में 13 और बेलदौर व गोगरी प्रखंड में एक-एक केस इस वर्ष मिले हैं। अलौली के सूरजनगर गांव में आठ मरीज मिले हैं। वर्ष 2016 से लगातार अलौली प्रखंड में सर्वाधिक कालाजार के मरीज पाए गए हैं। इस वर्ष मिले 15 में 14 मरीजों के ठीक होने की सूचना है। आंकड़े के आइने में कालाजार
सीजन सेल में लैपटॉप और मोबाइल पर पाए 50 % तक डिस्काउंट, click करे लिंक पर



जिले में वर्ष 2016 में 75 कालाजार मरीज पाए गए थे। जिसमें सबसे अधिक अलौली प्रखंड में 30 और इसके बाद बेलदौर प्रखंड में 18 मरीज मिले थे। जबकि चौथम में पांच, गोगरी नौ, खगड़िया नौ, मानसी तीन और परबत्ता में एक मरीज मिले थे। 2017 में जिले में 68 मरीज मिले। सर्वाधिक अलौली प्रखंड में 29 मरीज मिले। बेलदौर में 13, खगड़िया में 14, चौथम तीन, गोगरी छह, मानसी दो और परबत्ता में एक मरीज मिले। वर्ष 2018 में 46 कालाजार मरीज मिले। सर्वाधिक अलौली में 19, सदर प्रखंड में 12, बेलदौर में चार, चौथम दो, गोगरी आठ और मानसी में एक मरीज मिले। इस वर्ष परबत्ता प्रखंड में एक भी मरीज नहीं पाए गए। वर्ष 2019 में भी 30 मरीज मिले। जिसमें सर्वाधिक अलौली में 14 मरीज मिले। बेलदौर में आठ, चौथम एक, गोगरी एक, सदर प्रखंड तीन, मानसी दो और परबत्ता में एक मरीज मिले। वर्ष 2020 में 20 मरीज मिले। जिसमें सर्वाधिक अलौली 12, बेलदौर दो, गोगरी एक, सदर प्रखंड चार और मानसी में एक मरीज मिले। कोट

अलौली प्रखंड में इस वर्ष 13 कालाजार मरीज मिले हैं। जिसमें आठ सिर्फ सूरजनगर में मिले हैं। सभी अब स्वस्थ्य हैं। यहां चार बार फोकल स्प्रे किया गया है। केयर इंडिया की ओर से बालू मक्खी को पकड़ने को लेकर मशीन भी लगाया गया। काफी संख्या में बालू मक्खी पकड़ाया भी। मरीज की जैसे ही सूचना मिलती है, तो अलौली सीएचसी लाकर उपचार शुरू कर दिया जाता है। 7100 रुपये का अनुदान भी दिया जाता है।
डा. मनीष कुमार, प्रभारी, अलौली सीएचसी।

अन्य समाचार