कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

आजादी के सात दशक बाद भी नहीं हो पाया सड़क पक्कीकरण कार्य

संवाद सूत्र, पहाड़कट्टा (किशनगंज) : पोठिया प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत मिरामनी गांव से किशनगंज-ठाकुरगंज मुख्य सड़क को जोडऩे वाली लगभग दो किमी कच्ची सड़क का आजादी के सात दशक बाद भी पक्कीकरण कार्य नहीं होने से सड़क गड्ढ़े में तब्दील हो चुकी है। उक्त सड़क पर आवागमन करना परेशानियों का सबब बना हुआ है। बताते चलें कि छत्तरगाछ पंचायत स्थित मिरामनी गांव से आधा दर्जन गांव होते हुए किशनगंज-ठाकुरगंज मुख्य सड़क को जोडऩे वाली सड़क पक्कीकरण कार्य नहीं होने से ग्रामीणों में काफी आक्रोश देखा जा रहा है। छह माह पूर्व स्थानीय ग्रामीणों द्वारा सड़क पक्कीकरण कार्य कराए जाने की मांग को लेकर मुख्य सड़क को घंटों जाम कर दिया था। इसके बावजूद आजतक सड़क पक्कीकरण कार्य कराए जाने की प्रक्रिया शुरू नहीं हुआ है।


ग्रामीणों का कहना है कि यही एक मात्र सड़क है जो हम लोगों को दोनों तरफ मुख्य सड़कों से जोड़ती है। बरसात के दिनों में सड़क किचड़ में तब्दील हो जाने से उक्त सड़क पर आवागमन पूरी तरह से प्रभावित हो जाता है। परिणामस्वरूप लोगों का संपर्क प्रखंड व जिला मुख्यालय से टूट जाता है। यही नहीं बरसात में सड़क किचड़ में तब्दील हो जाने से यदि गांव में किसी महिला की प्रसव पीड़ा या किसी की बीमारी होने पर गांव तक एंबुलेंस नहीं पहुंच पाता है। मजबुरन झोला छाप डाक्टर से इलाज कराकर संतुष्ट होना पड़ता है। इस कारण कई लोग असमय काल के गाल में समा चुके हैं। हालांकि सड़क पक्कीकरण कार्य के लिए कई दफा विभागीय अधिकारियों सहित स्थानीय विधायक व सांसद से गुहार लगाई है। लेकिन आजतक इस दिशा में कोई सकारात्मक पहल करते नहीं देखा जा रहा है। वहीं ग्रामीणों ने एक बार फिर स्थानीय विधायक इजहारूल हुसैन तथा सांसद डा. मु. जावेद आजाद सहित विभागीय अधिकारियों का ध्यानाकर्षित कराते हुए सड़क पक्कीकरण कार्य कराए जाने की मांग की है। ताकि आवागमन में लोगों को सुविधा हो सके।

अन्य समाचार