कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

782 की क्षमता वाले जेल में रखे जा रहे 1400 बंदी



जागरण संवाददाता, खगड़िया: कोरोना महामारी के बाद से अचानक खगड़िया मंडल कारा में बंदियों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। कई बंदियों के स्वजनों का कहना हुआ कि भेड़ बकरियों की तरह खगड़िया जेल में बंदी रखे जा रहे हैं। भीषण गर्मी में इससे बीमारी की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है। जेल सूत्रों की माने तो खगड़िया जेल के 20 वार्डों में 782 बंदियों के रखने की व्यवस्था है। अभी 1400 सौ से अधिक बंदियों को किसी तरह से रखा जा रहा है। 14 सौ बंदियों को रखने की समुचित सुविधा जेल में नहीं है। सबसे अधिक खराब हालत महिला वार्ड की है।

जेल सूत्र का कहना हुआ कि यहां मात्र तीन महिला बंदियों को रखने की क्षमता है। मगर अभी 81 महिला बंदी यहां पर है।
फिलहाल एक बड़ी बात यह है कि खगड़िया व्यवहार न्यायालय के अधिवक्ता अभी अपनी मांगों को लेकर कई दिनों से हड़ताल पर हैं। इससे भी बंदियों की ओर से कोर्ट में समुचित पक्ष रखने में परेशानी हो रही है। पुलिस सूत्रों का कहना हुआ कि अभी प्रतिदिन आधे दर्जन से अधिक आरोपितों और फरारियों को गिरफ्तार किया जा रहा है और जेल भेजा जा रहा है। क्षमता से बहुत अधिक बंदियों को अन्यत्र जेल में रखने की व्यवस्था नहीं की गई तो भीषण गर्मी में बीमारी फैलने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। कोट यह सही है कि खगड़िया मंडल कारा में क्षमता से अधिक बंदी है। मगर बंदियों को लेकर जेल प्रशासन चौकस है और बेहतर उपचार को लेकर भी लगातार प्रयास जारी है।
-धर्मेंद्र कुमार, जेल अधीक्षक, खगड़िया

अन्य समाचार