कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

डीआरएम ने किया चौसा का निरीक्षण, स्टेशन मास्टर को लगाई फटकार

बक्सर : पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन से दानापुर जा रही डीआरएम की सैलून चौसा स्टेशन पर रुक गई। इस दौरान पहले से प्रतीक्षा में खड़े रेलवे संघर्ष समिति के सदस्यों ने अध्यक्ष डा. मनोज कुमार यादव के नेतृत्व में उनका स्वागत किया।

बताया जाता है कि चौसा में डीआरएम प्रभात कुमार का कोई कार्यक्रम पहले से तय नहीं था, रेल संघर्ष समिति के आग्रह पर ही वह चौसा स्टेशन पर उतरे और स्टेशन का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने प्लेटफॉर्म पर बनाए गए शौचालय की कुव्यवस्था पर स्टेशन मास्टर को फटकार लगाई तथा उसे तत्काल ठीक कराने का निर्देश दिया। यही नहीं, यहां की समस्या पर साथ चल रहे पदाधिकारियों की टीम को उसे नोट करने का निर्देश दिया। वह चौसा स्टेशन पर लगभग 20 से 25 मिनट तक रुके व संघर्ष समिति की बातें सुनी। संघर्ष समिति के डा. मनोज ने बताया कि यह स्थल पौराणिक, ऐतिहासिक स्थल तो है ही, वर्तमान में 1320 मेगावाट का पावर प्लांट का निर्माण होने से महत्वपूर्ण हो गया है जबकि स्टेशन मूलभूत सुविधाओं से वंचित है। यहां पेयजल, शौचालय के अलावा प्रतीक्षालय, पैदल उपरीगामी पथ आदि की समस्या है। समिति ने यहां पूर्व से लगने वाली कुर्ला पटना, फरक्का एक्सप्रेस व हावड़ा अमृतसर एक्सप्रेस ट्रेन का ठहराव पुन: कराए जाने की मांग की। डीआरएम ने स्टेशन की स्थिति व ट्रेनों की ठहराव वाली मांग की अनुशंसा करने का आश्वासन दिया। उन्होंने स्टेशन कर्मियों से भी उनकी समस्याओं की जानकारी ली और निर्देश भी दिए। मौके पर संघर्ष समिति ने छह सूत्री मांग पत्र भी डीआरएम को सौंपा। मौके पर हरिहर मेहरा, मृत्युंजय दुबे आदि मौजूद थे।

अन्य समाचार