कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

बिदुपुर में यज्ञ के लिए निकाली गई कलश शोभायात्रा

संवाद सूत्र, बिदुपुर : बिदुपुर प्रखंड के खजबता गांव में मां काली एवं हनुमानजी की प्रतिमा के प्राण-प्रतिष्ठा तथा 24 घंटे के अष्टयाम यज्ञ को लेकर कलश शोभायात्रा निकाली गई। लगभग दस किलोमीटर दूर चेचर घाट गंगा नदी किनारे भक्त स्नान कर विधि- विधान के साथ पूजन कर कलश में गंगा जल भरकर भगवान का जयकारा मनाते हुए यज्ञ स्थल की ओर पंक्तिबद्ध होकर रवाना हुए। यज्ञ को लेकर पूरा क्षेत्र भक्तिमय वातावरण से गुंजायमान हो गया है। यज्ञ के मुख्य आचार्य सुबोध शास्त्री एवं अभिषेक शास्त्री ने गंगा नदी तट पर सभी देवी-देवताओं के आह्वान कर पूजन कराया।


वहीं यज्ञ स्थल पर नव ग्रह पूजन, गौरी गणेश पूजन आदि कराए। यज्ञ के यजमान डा. इंद्रजीत दुबे उर्फ दुबे, युवा राजद नेता अजय यादव, कांति देवी, मुखिया प्रतिनिधि मनोज राय ,गणेश ठाकुर आदि काफी सक्रिय देखे गए। यज्ञ स्थल काली स्थान खजबता में धार्मिक वातावरण से गुंजायमान हो गया है। काली दुर्गे राधे श्याम, गौरी शंकर जय हनुमान का 24 घंटे का अखंड अष्टयाम यज्ञ शुरू हुआ। वही यज्ञ के अंतिम दिन रात में विवाह कीर्तन शंभू व्यास एवं नरेश व्यास के द्वारा प्रस्तुत किए जायेंगे। यज्ञ को लेकर लोगो में काफी उत्साह देखा जा रहा है।।यज्ञ स्थल पर पूजा-अर्चना करने वाले भक्तों की काफी भीड़ देखी गई। नरसिंह धाम सिघाड़ा में महायज्ञ को लेकर भक्तिमय हुआ माहौल
संवाद सहयोगी, महुआ : प्रखंड क्षेत्र के बाया नदी के तट पर स्थित नरसिंह धाम सिघाड़ा के परिसर में चल रहे दस दिवसीय श्री श्री विष्णु महायज्ञ में यज्ञ मंडप की परिक्रमा करने के लिए महिलाओं की भीड़ उमड़ रही है। वहीं महायज्ञ में काशी से आए आचार्य के वैदिक मंत्रोच्चारण से पूरा क्षेत्र भक्तिमय हो गया है।
नरसिंह धाम सिघाड़ा के परिसर में 10 दिवसीय श्री श्री विष्णु महायज्ञ चल रहा है। महायज्ञ के छठे दिन यहां यज्ञ मंडप की परिक्रमा करने के लिए दूर-दूर से महिला श्रद्धालु भक्तों की भीड़ उमड़ रही है। वहीं महायज्ञ में बनाई गई भव्य देवी-देवताओं की प्रतिभा भी आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। महायज्ञ में आए काशी के प्रवचन कर्ता के प्रवचन सुनने के लिए भी श्रद्धालु भक्तों की भीड़ जहां उमड़ रही है, वहीं वृंदावन की रासलीला का भी लोग आनंद उठा रहे हैं। महायज्ञ के सफल संचालन में लगे विज्ञान स्वरूप सिंह सहित अन्य ने बताया कि महायज्ञ परिसर में भव्य मेला का भी आयोजन किया गया है। यहां पर मीना बाजार, झूला के अलावा कई तरह के करतब भी दिखाए जा रहा हैं जिसमें ग्रामीण क्षेत्र के लोगों की भीड़ उमड़ रही है। महायज्ञ को लेकर काशी के विद्वत मंडली के मंत्रोच्चारण से पूरा क्षेत्र भक्तिमय हो गया है।

अन्य समाचार