कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

सोनबरसा से सीएम के लौटते ही टूटा लखनदेई का सुरक्षात्मक बांध

सोनबरसा (सीतामढ़ी। सोनबरसा प्रखंड के खाप खोपराहा से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के लौटते ही वहां लखनदेई नदी की उड़ाही के लिए बनाया गया सुरक्षात्मक बांध टूट गया।

लखनदेई की नई धार का छोटी भारसर ग्राम से दुलारपुर घाट तक लिक चैनल का निर्माण एवं पुरानी लखनदेई की मृत धार का दुलारपुर से पीतांबरपुर ग्राम के निकट सोरम नदी के मिलन बिदु तक पुनस्र्थापन कार्य चल रहा है। इसके निरीक्षण के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आए थे।
नेपाल के जल अधिग्रहण क्षेत्र में भारी बारिश के कारण वहां से पानी छोड़ा गया। वह पानी लखनदेई के लिए निर्माणाधीन लिक चैनल में पहुंचा। अब इस चैनल का जहां काम अभी शुरू नहीं हो पाया है, वहां दबाव सहन नहीं करने से वह टूट गया। इससे पानी का फैलाव खेतों की तरफ होने लगा।

पानी न फैले इसलिए प्रशासन ने ही काटकर व्यवस्थित कराया : उधर, बांध टूटने वाली बात को डीएम मनेश कुमार मीणा ने भ्रामक और अफवाह करार दिया है। उन्होंने कहा कि वहां न तो कोई बांध है न कुछ टूटने जैसी घटना हुई है। उन्होंने दलील दी कि वहां पर बांध बनाने जैसी कोई योजना ही नहीं है। पुरानी लखनदेई जो मृत हो चुकी थी, उसको पुनर्जीवित करने की योजना है। सिल्ट की उड़ाही की योजना का निरीक्षण करने मुख्यमंत्री आए हुए थे। उड़ाही के बाद आज पहली बार उसमें पानी आया है चूंकि, योजना अभी निर्माणाधीन है, जिससे उसमें पानी आने पर इधर-उधर फैलने लगा। आसपास के इलाके में पानी न फैले इसलिए प्रशासन ने ही उसको काटकर व्यवस्थित कराया है, ताकि नदी की जद में उसका पानी बह सके। मुख्यमंत्री द्वारा निर्माण कार्य को देखते हुए निर्देश दिया गया कि तात्कालिक प्रभाव से आज ही नए बने लिक चैनल को पुरानी धार से जोड़ा जाए। नए लिक चैनल से लखनदेई नदी को पुरानी धार से जोड़ भी दिया गया है। इसी क्रम में भारत-नेपाल सड़क की कटाई कर लिक चैनल से जोड़ने के दौरान पानी का बहाव अन्य खेतों में हुआ है।
::::

अन्य समाचार