कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

भारत विकास परिषद ने दिव्यांग सूरज को उपलब्ध कराया कृत्रिम पैर

संवाद सहयोगी, लखीसराय : जिले के सूर्यगढ़ा प्रखंड अंतर्गत खांड़पर गांव के दिव्यांग सूरज कुमार की जिदगी में भारत विकास परिषद ने खुशहाली लौटा दी है। दोनों पैर से दिव्यांग सूरज का मुफ्त आपरेशन कराकर भारत विकास परिषद ने दोनों पैर में कृत्रिम पैर लगाया है। गुरुवार को पटना से लखीसराय लौटने पर परिषद के पदाधिकारियों ने दिव्यांग सूरज का स्वागत माला पहनाकर किया। सूरज कुमार दूसरे प्रदेश में मार्बल मिस्त्री का काम करता था। कोरोना काल मे जब वह घर लौट रहा था तो रास्ते मे ट्रेन दुर्घटना का वह शिकार हो गया। उसमें उसने अपना दोनों पैर और एक हाथ गवां दिया था। इसके बाद सूरज बेबस और लाचार बनकर जिदगी जी रहा था। इसी बीच भारत विकास परिषद के सचिव चुन्नू भाई को दिव्यांगों का सर्वे करने के दौरान सूरज से मुलाकात हुई। चुन्नू भाई सूरज को भारत विकास परिषद के अस्पताल संजय आनंद विकलांग हास्पिटल एंड रिसर्च सेंटर पटना ले गए। वहां जांचोपरांत सूरज का बेहतर इलाज के साथ दोनों पैर में कृत्रिम पैर लगाया गया। इससे सूरज अब चल फिर सकता है। दिव्यांग सूरज कुमार ने बताया की मेरे जीवन में अब तक जो अंधेरा था अब वह खत्म हो चुका है। अब मैं अपने आप कुछ कर पाऊंगा। उसने इसके लिए भारत विकास परिषद लखीसराय के पदाधिकारियों एवं पटना स्थित अस्पताल के डाक्टर एवं अन्य कर्मियों के प्रति आभार व्यक्त किया। पटना से लौटने के दौरान लखीसराय में परिषद के जिला अध्यक्ष डा. प्रवीण कुमार सिन्हा ने सूरज कुमार से मिलकर हाल जाना और माला पहनाकर और मिठाई खिलाकर स्वागत किया। इस मौके पर परिषद के जिला सचिव हरि दरस चुन्नू भाई, कोषाध्यक्ष मनोज कावड़िया, पूर्व नप सभापति अरविद पासवान सहित कई लोग उपस्थित थे।

2,093 आवास लाभुकों पर दायर होगा नीलामपत्र वाद यह भी पढ़ें

अन्य समाचार