कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

फाइलेरिया उन्मूलन : दो चरण में 4046 लोगों का लिया गया ब्लड सैंपल

रोहतास। फाइलेरिया उन्मूलन अभियान में गति लाने एवं जिले को फाइलेरिया मुक्त करने के उद्देश्य से चार प्रखंड में चलाए गए दूसरे चरण के नाइट ब्लड सर्वे अभियान में लक्ष्य से अधिक लोगों का ब्लड सैंपल लिया गया। दो चरण में चलाए गए अभियान में 4046 लोगों का सैंपल लिया गया है। 17 से 20 मई तक चले प्रथम चरण में सासाराम, डेहरी, बिक्रमगंज एवं नोखा प्रखंड का चयन किया गया था, जहां 2000 के विरुद्ध 2020 लोगों का ब्लड सैंपल संग्रहित किया गया था, वही दूसरे चरण में लक्ष्य से अधिक लोगों का रक्त संग्रहित किया गया।

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक दूसरे चरण में शिवसागर प्राथमिक स्वास्थ्य के रायपुर चोर में सर्वाधिक 526 लोगों का सैंपल संग्रहित किया गया। एसीएमओ डा. अशोक कुमार सिंह ने बताया कि फाइलेरिया उन्मूलन अभियान को लेकर चलाए जा रहे नाइट ब्लड सर्वे के दौरान लक्ष्य से अधिक लोगों का सैंपल संग्रहित किया गया। जिले में चार स्थाई व चार अस्थाई प्रखंडों का चयन किया गया था। प्रत्येक स्थल के लिए 500 लोगों को लक्षित किया गया था, इस तरह से जिले में 4000 लोगों का रक्त संग्रह करने का लक्ष्य रखा गया था। दोनों चरणों में आठ स्थलों से 4046 लोगों का रक्त संग्रह किया गया है। एसीएमओ ने बताया कि सर्वे के दौरान जिले में बेहतर परिणाम देखने को मिला। रात्रि में ब्लड सैंपल लेने की प्रक्रिया के बावजूद भी लोग में उत्साह देखा गया और व केंद्र पर पहुंचकर ब्लड जांच कराई गई। एसपी जैन कालेज में आयोजित प्लेसमेंट ड्राइव से चुने गए नौ छात्र

रोहतास। जिले के सबसे पुराने वे बड़े महाविद्यालय एसपी जैन कालेज में शुक्रवार को प्लेसमेंट ड्राइव का आयोजन किया गया। जिसमें कालेज के बीसीए, बीबीए व कामर्स के अंतिम वर्ष के छात्र-छात्राओं के साथ पास आउट कर चुके छात्र-छात्राओं ने भी भाग लिया। प्लेसमेंट ड्राइव का आयोजन संख्यान कांस्टलेंसी प्राइवेट सर्विसेज लिमिटेड की ओर से किया गया। जिसमें सेल्स एक्सक्यूटिव, बिजनेस प्रमोटर सेल्स एक्सक्यूटिव, डिजिटल मार्केटिग एक्सक्यूटिव, प्रोजेक्ट कंस्लटेंट व आइटी रिक्यूरेटर आदि पदों के लिए प्लेसमेंट ड्राइव चलाया गया। कुल 14 पदों के लिए चयन प्रकिया पूरी की गई। जिसमें नौ पदों के लिए छात्रों का चयन किया गया, अंतिम सूची शनिवार को प्रकाशित की जाएगी। मौके पर प्राचार्य डाक्टर गुरुचरण सिंह, आइक्यूएसी के समन्वयक डाक्टर मृत्युंजय सिंह, बीबीए- बीसीए विभाग के शिक्षक रामचंद सिंह, जागृति, अजीत कुमार मौजूद थे। प्लेसमेंट ड्राइव में छात्राओं की भागीदारी महत्वपूर्ण रही। प्लेसमेंट ड्राइव में इंटरव्यू व ग्रुप डिस्कशन के बारे में पहले छात्रों को प्रशिक्षण दिया गया।

अन्य समाचार