कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

20 पंचायतों के 246 वार्डो में जुलाई से प्रारंभ होगा कचरे का उठाव



जागरण संवाददाता, मधेपुरा: जिले की 20 पंचातयों में नियमित रूप से कचरे का उठाव जुलाई से प्रारंभ कर दिया जाएगा। इसको लेकर तैयारी चल रही। कचरे के उठाव के बाद उसके प्रबंधन को लेकर कचरा प्रसंस्करण इकाई का निर्माण चिह्नित की गई सभी 20 पंचायतों में शुरू कर दिया गया है। कचरे के उठाव को लेकर चयनित पंचायतों के सभी वार्डो में प्रत्येक परिवारों को दो-दो डस्टबिन दिए जाएंगे। ठेले के माध्यम से प्रतिदिन कचरे का उठाव होना है।
कचरे से तैयार की जाएगी खाद लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान के द्वितीय चरण के पहले फेज में 20 पंचायतों से कचरे के उठाव की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। इसके लिए चिह्नित पंचायत में पांच लाख की लागत से कचरा उठाव के बाद उसके रख रखाव के लिए कचरा प्रसंस्करण इकाई का निर्माण किया जा रहा है। पंचायत के सभी वार्डो से कचरा का उठाव कर लाया जाएगा। लाए गए कचरे से खाद भी तैयार करने की योजना है।

शुरू हुआ कचरा प्रसंस्करण इकाई का निर्माण जिले में लोहिया स्वच्छता अभियान के दूसरे चरण में विभिन्न प्रखंडों के 20 पंचायतों में कचरा प्रसंस्करण इकाई का निर्माण प्रारंभ कर दी गई है। अब नियमित रूप से कचरे का उठाव आलमनगर प्रखंड के कुंजोड़ी, बिहारीगंज प्रखंड के बभनगामा, चौसा प्रखंड के चौसा पश्चिमी और रसुलपुर धुरिया, गम्हरिया प्रखंड के गम्हरिया, धैलाढ़ प्रखंड के झिटकिया, ग्वालपाड़ा प्रखंड के वीरगांव चतरा, झिटकिया कोलहौता, कुमारखंड प्रखंड के परमानंदपुर और रामनगर महेश, मधेपुरा सदर प्रखंड के खोपैती तुनियाही, साहुगढ़ दो, मुरलीगंज प्रखंड के बेलो और रघुनाथपुर, पुरैनी प्रखंड के सपरदह, शंकरपुर प्रखंड के गिद्धा, सिंहेश्वर प्रखंड के बैहरी और कमरगामा, उदाकिशुनगंज प्रखंड के खाड़ा और बड़ाही आनंदपुरा पंचायत में जुलाई माह से प्रारंभ होना है।
कचरा रखने के लिए मिलेंगे डस्टबिन लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान के द्वितीय चरण प्रत्येक परिवारो को दो-दो डस्टबिन दिए जाएंगे। कचरे के उठाव के लिए प्रत्येक वार्ड में एक-एक ठेला गाड़ी दी जाएगी। कचरे का उठाव नियमित होगा। यह कार्य मुखिया की देखरेख में कराया जाएगा। कचरे का उठाव सुनिश्चित होने के साथ ही प्रत्येक परिवारों को स्वच्छता शुल्क के नाम 30 से लेकर 60 रुपये तक देना होगा। कोट कचरे का उठाव जुलाई माह से प्रारंभ करने की योजना है। कचरा प्रसंस्करण इकाई का निर्माण तेजी से चल रहा है। प्रसंस्करण इकाई का निर्माण होते ही उठाव सुनिश्चित कर लिया जाएगा। -ऋषि कुमार, जिला समन्वयक,
लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान

अन्य समाचार