कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

कालेज प्राचार्य पर अनुदान राशि वितरण में अनियमितता का आरोप

संवाद सूत्र, मुरलीगंज (मधेपुरा) : शहर के काशीपुर स्थित एलपीएम कालेज के कर्मचारियों ने प्राचार्य पर अनुदान की राशि वितरण में विसंगति एवं वित्तीय गबन करने का आरोप लगाया है। इस संबंध में कालेज के वाणिज्य विभाग के व्याख्याता उमेश कुमार साह एवं लेखपाल संजय कुमार ने क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक, कोसी प्रमंडल सहरसा को आवेदन दिया है। आवेदन में बताया है कि प्राचार्य द्वारा जिला प्रोग्राम पदाधिकारी (माध्यमिक शिक्षा) के आदेश के बिना अनुदान की राशि मनमाने ढंग से वितरण किया गया है। इस वर्ष 2012-13 के आवंटित अनुदान राशि का भुगतान प्राचार्य मनमाने तरीके से किया है। शारीरिक शिक्षा अनुदेशक जो लिपिक वर्ग में आते हैं उन्हें व्याख्याता प्रथम पद के रूप में अनुदान की राशि एवं आंतरिक स्त्रोत की राशि दी जा रही है। जिला शिक्षा पदाधिकारी मधेपुरा के ज्ञापांक 465 दिनांक 24 नवम्बर-2018 के आदेश का उल्लंघन करते हुए प्रथम पद के अलावा द्वितीय, तृतीय एवं चतुर्थ पद को भी अनुदान की राशि दी गई है। जो विधिसंगत नहीं है। सत्र 2021-23 के सभी छात्र छात्राओं से 11वीं जांच परीक्षा फीस 300 रुपया लेकर बैंक में भेजने के बजाय प्राचार्य अपने जेब में रखते हैं। जो वित्तीय गबन के श्रेणी में है। अनुदान की राशि वितरण के नाम पर लाखों रुपए का हिसाब में डीइओ, डीपीओ (माध्यमिक शिक्षा) को पैसे देने के नाम पर अपने जेब में रुपया रख लेना और उच्च पदाधिकारी को बदनाम करना है। कालेज में बरती जा रही अनियमितता वर्षो जारी है। प्राचार्य के मनमाने रवैए से कालेज कर्मी प्रताड़ित हो रहा है। वही इस संबंध में एलपीएम कालेज प्राचार्य जयकृष्ण यादव ने कुछ भी स्पष्ट रूप से बताने में परहेज करते रहे।


अन्य समाचार