कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

डीएम का आदेश ठंडे बस्ते में, नल जल में गड़बड़ी मामले में नहीं हुई प्राथमिकी

मोतिहारी। कोटवा प्रखंड के दो पंचायतों के दस वार्ड क्रियान्वयन समिति द्वारा नलजल एवं गली-नाली की राशि उठाव के बाद भी कार्य नहीं कराने के मामले में जिलाधिकारी के प्राथमिकी का आदेश 11 दिन बाद भी ठंडे बस्ते में है। संबंधित पदाधिकारी ने अब तक इस दिशा में कोई कार्रवाई नहीं की है। प्रखंड कार्यालय का यह मौन रहस्यमय बना है। इसको लेकर क्षेत्र में तरह-तरह की चर्चाओं का बाजार गर्म है। बता दें कि उक्त मामले में डीएम ने आदेश जारी कर कोटवा प्रखंड के ग्राम पंचायत राज भोपतपुर उत्तरी के वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रबंधन समिति वार्ड संख्या 2, 3, 5, 6 ,7 ,8 ,9 एवं 10 में एवं ग्राम पंचायत राज जसौलीपट्टी के वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रबंधन समिति वार्ड संख्या 9 एवं 12 में प्राक्कलन के अनुसार नल जल एवं गली-नाली योजना मद में राशि दी जा चुकी है। जिसमे वार्ड 2 में बीस लाख अठावन हजार, वार्ड 3 में पच्चीस लाख निनावे हजार, वार्ड 5 में 3 लाख 29 हजार 100 सौ, वार्ड 6 में 50 लाख 45 हजार, वार्ड 7 में 12.69 लाख, वार्ड 8 में 17.74 लाख, वार्ड 9 में 12.5 लाख, वार्ड 10 में 17.46 लाख, जसौलीपट्टी के वार्ड 9 में 10.12 लाख की राशि दी गई है। उनके द्वारा संपूर्ण धनराशि की निकासी भी कर ली गई है। परंतु वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रबंधन समिति द्वारा राशि लेने के उपरांत भी अभी तक कार्य पूर्ण नहीं किया गया। इस मामले में कई बार नोटिस भी दी गई, पर सभी वार्ड सदस्यों द्वारा योजना संपादित करने में कोई रुचि नहीं ली गई। इसके बाद संबंधित पंचायत के मुखिया, सचिव एवं वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रबंधन समिति के विरुद्ध नियमानुकूल प्राथमिकी दर्ज करने एवं राशि वसूली हेतु नीलाम पत्र वाद दायर करने का निर्देश दिया गया था। जिलाधिकारी के आदेश के बाद भी प्राथमिकी नहीं किये जाने पर बीडीओ सीमा कुमारी ने कहा कि अभी तक कार्यालय को जिलाधिकारी का आदेश प्राप्त नहीं हुआ है।


अन्य समाचार