कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

लोगों को अब एक मिस्ड काल से मिलेगी टीबी से जुडी सभी तरह की जानकारी

संवाद सहयोगी, किशनगंज : जिले को टीबी मुक्त बनाने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगातार पहल करने के साथ नई-नई तकनीकों से जोड़ा जा रहा है। अब स्वास्थ्य विभाग ने नई पहल करते हुए टीबी (क्षय रोग) मरीजों के लिए एक टाल फ्री नंबर की शुरुआत की है। इससे टीबी से जुडी सभी तरह की जानकारी सिर्फ एक मिस्ड काल से मिल सकेगा। यह जानकारी जिला यक्ष्मा पदाधिकारी डा. देवेन्द्र कुमार ने दी।

उन्होंने बताया कि टीबी की अधिक जानकारी के लिए टाल फ्री नंबर 1800-116666 जारी किया गया है। जिसपर कोई भी व्यक्ति मिस्ड काल करके टीबी के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकता है। सरकार 2025 तक टीबी उन्मूलन के लिए ²ढ़ संकल्पित है। टीबी से ग्रसित होने के बाद पूर्ण रूप से ठीक हो चुके हैं। टीबी पूरी तरह से ठीक होने वाली बीमारी है। टीबी रोगियों को सरकार द्वारा नि:शुल्क दवा दी जाती है। हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर कार्यरत कम्युनिटी हेल्थ आफिसर (सीएचओ) पर बड़ी जिम्मेदारी है कि वो घर के दरवाजे से बाहर आ रहे लोगों को बेहतर ढंग से टीबी की जांच और इलाज के साथ-साथ इससे बचने के लिए लोगों को टीबी के लक्षण और सावधानियों के बारे में अच्छी तरह से जागरूक करें।

समय-समय पर चिह्नित इलाकों में सघन अभियान संचालित कर रोगी खोज अभियान का संचालन रोग नियंत्रण के लिहाज से महत्वपूर्ण साबित हुआ है। ईट-भट्ठा, झुग्गी-झोपड़ी, मलीन बस्तियां सहित अन्य संभावित स्थानों पर संचालित अभियान के क्रम में बड़ी संख्या में टीबी के छिपे मामले सामने आ रहे हैं। टीबी के विश्वसनीय जांच के लिये सभी प्रखंड स्तरीय चिकित्सा संस्थानों में मशीन लगाए गए हैं। इससे एमडीआर टीबी के भी मामले आसानी से चिह्नित कर उनका समुचित इलाज सुनिश्चित कराया जा रहा है। इतना ही नहीं टीबी नोटिफिकेशन के मामले में प्राइवेट चिकित्सकों से भी जरूरी मदद ली जा रही है। काल करने के बाद टीम पहुंचकर करेगी जांच

टोल फ्री से प्राप्त काल के आधार पर मंत्रालय की टीम काल करने वाले व्यक्ति के पास पहुंचेगा। उस व्यक्ति को टीबी की जांच करके यह सुनिश्चित करेगा की उसको सही निदान, मुफ्त दवाइयां और इलाज उपलब्ध कराने तथा अनुवर्ती कार्य के लिए इस कार्यक्रम के अंतर्गत शामिल किया जा सके। टीबी नियंत्रण कार्यक्रम की एक सबसे बडी चुनौती टीबी मरीजों तक पहुंचना है। टोल फ्री सेवाएं मरीजों को टीबी नियंत्रण कार्यक्रम में शामिल करने में मदद करेगी।

अन्य समाचार