कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

निगरानी जांच के लिए प्रखंड के 33 पंचायत शिक्षकों के मांगे गए बीटीईटी प्रमाण पत्र

मधुबनी । निगरानी अन्वेषण ब्यूरो के पुलिस निरीक्षक सह जांचकर्ता सत्येन्द्र राम ने प्रखंड के 33 पंचायत शिक्षकों के बीटीईटी एवं सीटीईटी प्रमाण पत्रों की मांग जांच के लिए जिला कार्यक्रम पदाधिकारी स्थापना से की है। इस बाबत डीपीओ स्थापना ने बीईओ खजौली को सभी संबंधित शिक्षकों से प्रमाण पत्र प्राप्त कर एक सप्ताह के अन्दर स्थापना कार्यालय को उपलब्ध कराने का निदेश दिया है। निगरानी के पुलिस निरीक्षक ने लिखा है कि बीईओ खजौली द्वारा प्रखंड के पंचायत शिक्षकों के बीटीईटी एवं सीटीईटी प्रमाण पत्र जांच के लिए उपलब्ध कराए गए हैं, उनमें इन 33 शिक्षकों के प्रमाण पत्र उपलब्ध नहीं हैं। इससे इन शिक्षकों के प्रमाण पत्रों की जांच नहीं हो पा रही है। पत्र में उन्होंने जिला स्थापना कार्यालय में निगरानी कार्य के लिए प्रतिनियुक्त कर्मी एवं प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी खजौली से बार-बार मांग किए जाने के बावजूद इन 33 शिक्षकों के प्रमाण पत्र जांच के लिए उपलब्ध नहीं करवाए जाने का जिक्र किया है। उन्होंने सभी 33 शिक्षकों के बीटीईटी एवं सीटीईटी प्रमाण पत्र की अभि प्रमाणित प्रति उपलब्ध कराने का अंतिम रूप से आग्रह किया है। पत्र के साथ उन्होंने पंचायत नियोजन इकाई वार संबंधित शिक्षकों की सूची भी जारी की है। जिनमें नरार पूर्वी पंचायत नियोजन इकाई के शिक्षक प्रभू महर, महुआ एकडारा के बबीता कुमारी, आदित्य कुमार ठाकुर, सरावे के विनोद कुमार सिंह, नेहाश्री, सरोज कुमार यादव, बेंता ककरघट्टी के रामवृक्ष सिंह, सुनील कुमार, मो. कलामुद्दीन, लाल कुमार साह, रसीदपुर के राजकुमार मंडल, अनिल प्रकाश, सुशील कुमार, खजौली के प्रदीप कुमार यादव, रेणु कुमारी, संतोष कुमार ठाकुर, संगीता कुमारी, कन्हौली के मनोज कुमार सिंह, अनिल कुमार साह, श्वेता कुमारी, कमलेश कुमार, शंभू कुमार शर्मा, सुक्की के राम उदगार सिंह, रंजन कुमार, रामनरेश सिंह, बबीता कुमारी, सुप्रीता कुमारी, प्रमोद कुमार, भकुआ के खुशी लाल मंडल, राकेश कुमार रौशन, चतरा गोबरौरा उत्तर के दिनेश प्रसाद सुमन तथा चतरा गोबरौरा दक्षिण के संजय कुमार व बलराम राय शामिल हैं।


अन्य समाचार