कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

एबीवीपी ने परियोजना बालिका उच्च विद्यालय का किया निरीक्षण

फोटो- 02 जमुई- 6

- छह महिला शिक्षक मिले अनुपस्थित, पूछा जाएगा स्पष्टीकरण
- जिला शिक्षा पदाधिकारी ने दिया कार्रवाई का आदेश
-शिक्षक सिर्फ हाजिरी बनाकर चले जाते हैं अपने घर
संवाद सूत्र, चकाई (जमुई): अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नगर अध्यक्ष शैलेंद्र झा के नेतृत्व में एक टीम बनाकर शनिवार को परियोजना बालिका प्लस टू उच्च विद्यालय चकाई का छात्रों के आरोप के आलोक में आन द स्पाट निरीक्षण किया गया। निरीक्षण में रस्मी कुमारी, कंचन कुमारी, अस्मिता कुमारी, मीना कुमारी, सोनू कुमारी, रूबी त्रिपाठी समेत छह महिला शिक्षक बिना सूचना के अनुपस्थित मिले, जबकि 11 शिक्षक उपस्थित थे।

शिक्षकों के अनुपस्थित रहने पर एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने जिला शिक्षा पदाधिकारी दूरभाष पर इसकी शिकायत की। डीईओ ने ऐसे सभी शिक्षकों पर कार्रवाई करने की बात कही। साथ ही विद्यालय प्रभारी को शिक्षक से अनुपस्थिति का कारण पूछते हुई कार्रवाई कर डीईओ कार्यालय को अवगत कराने का निर्देश दिया। नगर अध्यक्ष शैलेंद्र झा ने बताया कि जब प्रखंड मुख्यालय विद्यालय की यह स्थिति है तो अन्य ग्रामीण इलाके के विद्यालय में क्या स्थिति होगी। प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य कृष्ण कुमार गुप्ता ने बताया कि चकाई प्रखंड के लगभग सभी ऐसे विद्यालय हैं। शिक्षक सिर्फ हाजिरी बनाकर चले जाते हैं। दुर्भाग्य है सरकार की व्यवस्था की जहां सिर्फ शिक्षा के नाम पर खानापूर्ति हो रही है और पदाधिकारी हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं। कृष्ण गोपाल राय ने कहा कि अगर शिक्षकों द्वारा विद्यालय आने एवं जाने सहित छात्रों की उपस्थिति में अगर जल्द से जल्द सुधार नहीं किया गया तो विद्यार्थी परिषद एक बड़ा आंदोलन के लिए बाध्य होगा। इस संबंध में परियोजना बालिका उच्च विद्यालय चकाई के प्रधानाध्यापक अजय कुमार ने कहा कि अनुपस्थित शिक्षकों से स्पष्टीकरण मांगा जाएगा एवं जिला को भी इस संबंध में अवगत कराया जाएगा। इस मौके पर विद्यार्थी परिषद के नगर मंत्री सौरव कुमार पासवान सहित कई कार्यकर्ता मौजूद थे।

अन्य समाचार