कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

खाद दुकानों के बाहर लगी किसानों की लंबी कतार, पुलिस अभिरक्षा में बंटी यूरिया

मोतिहारी । किसानों में यूरिया के लिए हाहाकार मचा हुआ है। प्रखंड क्षेत्र की उर्वरक दुकानों में एक बार फिर से यूरिया के लिए किसानों की लंबी लंबी लाइनें लगनी शुरू हो गई हैं। प्रखंड क्षेत्र की फुलवरिया पंचायत के छपवा चौक स्थित अजय खाद बीज भंडार में शुक्रवार को रात्रि से ही यूरिया के लिए किसानों की लंबी लंबी लाइनें लगनी शुरू हो गई थी। पुरुष किसानों के साथ साथ यूरिया के लिए महिलाओं की भी लंबी लाइनें लगी हुई थी। खाद लेने वालों की भारी भीड़ को देख दुकानदार ने शांति व्यवस्था के लिए स्थानीय पुलिस को सूचना दी। इसके बाद दुकान पर पहुंची पुलिस की देखरेख में खाद का वितरण शुरू किया गया। गौरतलब हो कि पिछले दिनों यूरिया के लिए प्रखंड़ की खाद दुकानों पर किसानों ने जमकर हंगामा किया था। यूरिया की उपलब्धता तथा दुकानदारों द्वारा अधिक मूल्य लिए जाने के कारण किसानों और दुकानदारों में झड़प भी हुई थी। छपवा स्थित अजय खाद बीज भंडार के दुकानदार अजय गुप्ता ने बताया कि यूरिया खाद की कोई किल्लत नहीं है। सभी किसानों को यूरिया सरकार द्वारा निर्धारित मूल्य 266.50 प्रति बैग की दर से दिया जा रहा है। वहीं प्रखंड़ कृषि पदाधिकारी हरेंद्र नाथ मेहरा ने बताया कि प्रखंड में यूरिया की कमी नहीं होने दी जाएगी। उन्होंने बताया कि शनिवार को फिर यूरिया की रैंक लगी है।

बंजरिया प्रखंड के पूर्व नाजिर पर छह लाख गबन और चोरी मामले में प्राथमिकी नहीं यह भी पढ़ें
मोतिहारी : पताही प्रखंड क्षेत्र में यूरिया के लिए किसानों के बीच हाहाकार मचा हुआ है। खरीफ फसल के लिए किसानों को अभी यूरिया की जरूरत है लेकिन किसानों को जरूरत के मुताबिक यूरिया नहीं मिल पा रही है। किसानों को जैसे ही खबर मिलती है कि किसी दुकान पर यूरिया का वितरण होनेवाला है वहां सुबह से ही लंबी लाइन लग जा रही है। दुकान खुलने के पूर्व ही किसानों की भीड़ जमा हो जा रही है। यूरिया की कालाबाजारी रोकने के लिए सभी दुकानों पर वितरण के समय कृषि विभाग से कर्मी की प्रतिनियुक्ति की गयी है लेकिन कुछ ऐसे लोग भी है,जो खाद का उठाव कर दूसरे जगह उंचे दामों पर बेच दे रहे हैं। हालांकि यूरिया लेने के लिए आधार कार्ड व किसान पंजीकरण लाना अनिवार्य कर दिया गया है ताकि सही किसानों को यूरिया मिल सके।

अन्य समाचार