कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

बोलेरो चालक हत्याकांड की सुलझी गुत्थी, दो गिरफ्तार

बोलेरो चालक हत्याकांड की सुलझी गुत्थी, दो गिरफ्तार

चोरी गई बोलेरो व मोबाइल भी बरामद अवैध संबंध के कारण सुपारी देकर कराई गई थी चालक आशीष की हत्या पेज तीन संवाद सहयोगी,हिलसा : बोलेरो चालक हत्याकांड की पुलिस ने गुत्थी सुलझा ली है। रविवार को पुलिस ने बोलेरो चालक आशीष कुमार की हत्या मामले में दो आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपितों के साथ से पुलिस ने लूटी गई बोलेरो व मोबाइल भी बरामद कर लिया है। रविवार को हिलसा डीएसपी ने प्रेस वार्ता कर बताया कि पत्नी के साथ किसी का अवैध संबंध चल रहा था। जिसका आशीष अक्सर विरोध करता था। इसी बात को लेकर पत्नी ने सुपारी देकर बदमाशों से उसकी हत्या करा दी। डीएसपी कृष्ण मुरारी प्रसाद ने बताया कि केशोपुर कृष्णा विगहा सड़क मार्ग पर 27 जुलाई की रात अज्ञात सड़क लुटेरों ने बोलेरो चालक आशीष कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी थी। उसके बाद उसका बोलेरो लेकर फरार हो गया था। इस घटना के बाद एसपी के आदेश पर पुलिस टीम का गठन किया गया था। टीम में थानाध्यक्ष गुलाम सरवर, दारोगा कुणाल चंद्र सिंह, नीरज कुमार, सद्दाम हुसैन खान, अर्जुन मंडल, जिला तकनीकी पुलिस पदाधिकारी चंदन कुमार समेत सशस्त्र बल शामिल थे। तकनीकी अनुसंधान के माध्यम से शनिवार की देर शाम छापेमारी अभियान चलाकर घटना में संलिप्त हिलसा थाना क्षेत्र के छकोरी बीघा गांव निवासी किशोर प्रसाद के पुत्र रमेश कुमार चिकसौरा थाना क्षेत्र के राजकुमार प्रसाद के पुत्र कौशल कुमार गिरफ्तार किया है। पूछताछ के बाद तीन लोगों की हत्या में संलिप्त होने की बात बताई गई। डीएसपी ने बताया कि आशीष कुमार बोलेरो चालक थे। इनके साथी भी बोलेरो चालक था। साथी की पत्नी से आशीष का अवैध संबंध था। इस कारण बदमाशों को हत्या के लिए चार लाख की सुपारी दी गई थी। दो लाख नगद राशि दी गई थी, शेष राशि हत्या करने के बाद हत्यारों को देना था लेकिन राशि नहीं देने के कारण बोलेरो लेकर फरार हो गया था। लूटी गई बोलेरो पटना जिले के गौरीचक थाना क्षेत्र के गवसपुर गांव से बरामद की गई।
रोटरी क्लब तथागत ने शहर में निकाला तिरंगा यात्रा यह भी पढ़ें

अन्य समाचार