कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

मानव शृंखला से सबसे बड़ा देश का मानचित्र बना बक्सर ने रचा इतिहास

मानव शृंखला से सबसे बड़ा देश का मानचित्र बना बक्सर ने रचा इतिहास

जागरण संवाददाता, बक्सर : एमपी हाईस्कूल में रविवार को मानव शृंखला से विश्व का सबसे बड़ा देश का मानचित्र बनाकर बक्सर ने इतिहास रच दिया। इस मौके पर मौजूद गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड के अधिकारियों ने आकलन के बाद वर्ल्ड रिकार्ड बनाने का बकायदा प्रमाण पत्र दिया। मौके पर मौजूद केंद्रीय मंत्री सह बक्सर सांसद अश्विनी कुमार चौबे के साथ दो बार एवरेस्ट विजेता रह चुकी संतोष यादव इस अद्भुत कार्यक्रम की गवाह बनी।
75 मीटर लंबा मानचित्र तैयार करने में 750 स्कूली बच्चों ने भाग लिया था जिसकी तस्वीरें सेटेलाइट के साथ ही ड्रोन कैमरे से ली गई। 75 मीटर लंबी मानव शृंखला से देश का मानचित्र बनाने में एनसीसी कैडेट्स के साथ ही विभिन्न स्कूलों के 750 बच्चे शामिल रहे। इसके लिए पहले से ही सैटेलाइट से समय लिया गया था। मौके पर उपलब्धि को दर्ज कर उसका आकलन करने के लिए गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड की टीम के रूप में एचओडी सह जज सुषमा नार्वेकर के साथ विशेष प्रतिनिधि संजय नार्वेकर मौजूद रहे। मैदान में तैयार किए गए विशाल मानचित्र पर सुबह नौ बजे से ही हाथों में तिरंगा और सर पर केसरिया कैप लगाए स्कूली बच्चे कतारबद्ध होने शुरू हो गए थे। मौके पर पहुंचे केंद्रीय मंत्री सह बक्सर सांसद के साथ दो-दो बार एवरेस्ट पर फतह हासिल कर चुकी हरियाणा की संतोष यादव ने संयुक्त रूप से दीप जलाकर इस ऐतिहासिक कार्यक्रम का शुभारंभ किया। सुबह 10 से 10.30 बजे तक मानव शृंखला से निर्मित विशाल मानचित्र का ड्रोन के साथ ही सैटेलाइट से सीधी रिकार्ड की जा रही थी। कार्यक्रम समाप्त होने के बाद सारी औपचारिकताओं को पूरा करते हुए वर्ल्ड रिकार्ड की टीम ने इवेंट की सफलता पर मुहर लगाते हुए केंद्रीय मंत्री के साथ छात्र शक्ति के संयोजक सौरभ तिवारी के हाथों में वर्ल्ड रिकार्ड कायम किए जाने का प्रमाण पत्र दिया। मौके पर केंद्रीय मंत्री ने लोगों को संबोधित करते हुए बताया कि हम सभी बक्सर वासियों के लिए यह गौरव का क्षण है कि आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर मानव निर्मित विश्व का सबसे बड़ा भारत का मानचित्र बनाने में कामयाब हुए। कार्यक्रम की सफलता के लिए उन्हाेंने सभी स्कूली बच्चों, उनके अभिभावकों, एनसीसी कैडेट्स, सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों एवं तमाम बक्सर वासियों को बधाई दी। पद्मश्री से सम्मानित पर्वतारोही संतोष यादव ने कहा कि बक्सर पौराणिक एवं ऐतिहासिक नगरी है। 14 अगस्त को बक्सर वासियों ने भारत का सबसे लंबा मानचित्र बनाकर इतिहास में अपना नाम दर्ज कराया है, यह गौरव का विषय है। कार्यक्रम का आयोजन श्रीराम कर्मभूमि न्यास एवं मिशन वंदे मातरम फाउंडेशन के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित किया गया था। कार्यक्रम का संयोजन सह मंच संचालन सौरभ तिवारी ने किया।

-इंसर्ट-
-350 किलो वजनी 75 मीटर लंबी तिरंगा यात्रा का आयोजन
नगर के एमपी उच्च विद्यालय के मैदान में विश्व कीर्तिमान बनाने के बाद 350 किलो वजनी और 75 मीटर लंबी खादी निर्मित तिरंगा को लेकर तिरंगा यात्रा का आयोजन किया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम का नेतृत्व केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने किया। एमपी उच्च विद्यालय से चलकर तिरंगा यात्रा पूरे शहर का भ्रमण करते हुए पुन: विद्यालय के मैदान पहुंच कर समाप्त हुआ। तिरंगा यात्रा में परशुराम चतुर्वेदी, कतवारु सिंह, विनोद ओझा, अरुण मिश्र, राजवंश सिंह, रामकुमार सिंह, शीला त्रिवेदी, पूनम रविदास, इंदु देवी, अमरनाथ जायसवाल, सतीश दुबे, धनंजय चौबे, कृष्णकांत ओझा, कार्यक्रम के संयोजक सौरभ तिवारी, नितिन मुकेश, प्रियरंजन चौबे, बसंत चौबे, भारत, बबलू सिंह, मिथिलेश पांड आदि उपस्थित थे।

अन्य समाचार