कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

फर्जी लूट की साजिश रचकर कर्मी ने किया साढ़े चार लाख राशि का गबन

संसू, सत्तरकटैया (सहरसा): अंकित हैंडलूम के कर्मी से रविवार को हुई संदिग्ध लूट का उजागर हुआ है। वसूली कर लौट रहे कर्मी ने ही लूट की अफवाह फैलाकर साढ़े चार लाख रुपये का गबन कर लिया।

कर्मी बलराम यादव ने पुलिस को बताया था कि बिहरा थाना क्षेत्र के सिहौल-तुलसियाही गांव के बीच सहरसा-सुपौल मार्ग पर बाइक सवार तीन बदमाशों ने हथियार के बल पर रुपये, मोबाइल और बाइक लूट लिया। इसकी पुलिस ने छानबीन शुरू की थी। इसी बीच हैंडलूम के मालिक आदित्य मित्तल ने लूट मामले को फर्जी बताते हुए कर्मी द्वारा राशि गबन करने के लिए साजिश रचने की शिकायत की है।

अंकित हैंडलूम सहरसा के मालिक ने थाना में दिए आवेदन में कहा है कि कर्मी द्वारा साढ़े चार लाख राशि गबन करने के लिए लूट की झूठी कहानी रची थी। पुलिस की जांच में पता चला कि घटना के दिन 12 बजकर 18 मिनट पर कर्मी बलराम द्वारा सुपौल जिले के परसरमा चौक से अपने मालिक से बात किया था जिसमें मालिक ने दोरमा होकर सहरसा दुकान पर पहुंचने की बात कही गई थी। मालिक से बात करने के बाद कर्मी द्वारा मोबाइल स्वीच आफ कर लिया गया। एक बजकर 40 मिनट पर थाना क्षेत्र के सिहौल-तुलसियाही गांव के बीच सहरसा-सुपौल मुख्य मार्ग में दिनदहाड़े बाइक सवार तीन बदमाशों द्वारा साढ़े चार लाख समेत बाइक और मोबाइल लूटने की जानकारी कर्मी द्वारा दी गई जिसपर पुलिस को शक हुआ। पुलिस का मानना था कि परसरमा से घटनास्थल बाइक से पहुंचने में अधिक से अधिक 30 मिनट लग सकता है। बावजूद कर्मी को एक घंटे 22 मिनट कैसे लग गया। मालिक के कहने के बाद भी कर्मी दोरमा मार्ग छोड़ रहुआ मार्ग से क्यों जा रहा था। कर्मी के पास छह हजार रुपये थे, वह बदमाशों ने नहीं लिया।
----------
कोट
साढ़े चार लाख लूट का मामला फर्जी था। कर्मी के द्वारा साढ़े चार लाख राशि गबन करने का एक सोची समझी साजिश रची गई थी। अंकित हैंडलूम सहरसा के मालिक ने लिखित आवेदन देकर अपने कर्मी द्वारा फर्जी लूट की साजिश रच साढ़े चार लाख गबन करने की बात कही गई है।
अकमल हुसैन, थानाध्यक्ष, बिहरा।

अन्य समाचार