कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

मधुमक्खी पालन से किसान होंगे समृद्ध, मिलेगा अनुदान

संसू, नवहट्टा (सहरसा ): किसानों को समृद्ध बनाने के लिए सरकार ने मधुमक्खी पालन को प्रोत्साहित करने का निर्णय लिया है। सरकार मधुमक्खी पालन के बाक्स पर सामान्य जाति के किसानों को 75 प्रतिशत और अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के किसानों को 90 प्रतिशत अनुदान देगी।

जिला उद्यान विभाग के अनुसार प्रति बाक्स पर होने वाले चार हजार रुपये के खर्च में किसानों को सरकार तीन हजार रुपए तक का अनुदान देगी। इस योजना के तहत चयनित किसानों को बागवानी मिशन योजना के तहत खेती पर भी अनुदान दिया जाएगा।
-----

पहले आओ पहले पाओ
----
मधुमक्खी पालन के लिए पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर योजना का लाभ किसानों को दिया जाएगा। अनुदान की राशि सीधे किसानों के खाते में हस्तांतरित की जाएगी। इसके लिए किसानों को आनलाइन आवेदन करना होगा। किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए स्वरोजगार से जुड़ी यह योजना संचालित की जा रही है । शहद बेचकर किसान मुनाफा कमा सकते हैं ।
----
मशीन पर भी मिलेगा अनुदान
----
मधुमक्खी पालन के बाद मधु निकालने के लिए किसान को मशीन पर भी अनुदान दिया जाएगा। बाजार में मिलने वाले बीस हजार मूल्य का मशीन अनुदानित दर पर सामान्य जाति के किसानों को मात्र पांच हजार में एवं अनुसूचित जाति जनजाति किसानों को दो हजार में उपलब्ध कराई जाएगी। किसानों को इसके लिए प्रशिक्षित होना आवश्यक होगा। मधुमक्खी पालन के लिए प्रशिक्षित किसानों को भूमिहीन होने के बावजूद भी योजना का लाभ दिया जाएगा ।
----
किसानों ने ली है रूचि
---
नवहट्टा प्रखंड के कई किसान मधुमक्खी पालन योजना के लिए आगे आए हैं । नगर पंचायत नवहट्टा के संजीव कुमार सिंह , खरका दिलवा के विनोद कुमार , संतोष कुमार , मझौल के मो तनवीर ढैंगा के धनेश्वर मिश्र आदि मधुमक्खी पालन से जुड़ने की पहल की है।
-- किसानों के लिए मधुमक्खी पालन स्वरोजगार के साथ अधिक मुनाफा कमाने वाली योजना है । राहुल रंजन, जिला उद्यान पदाधिकारी, सहरसा।

अन्य समाचार