कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

लीड: शहर को जाम से निजात दिलाने के लिए बाइपास सड़क का डीपीआर तैयार

लीड: शहर को जाम से निजात दिलाने के लिए बाइपास सड़क का डीपीआर तैयार

---पथ निर्माण विभाग ने डीपीआर मंजूरी को लेकर मुख्यालय को भेजा प्रस्ताव
---निविदा के पूर्व जल संसाधन विभाग से पथ निर्माण विभाग लेगा एनओसी
-- 05 करोड़ की लागत से हरदिया मन से मनुआपुल तक बनेगी बाइपास सडक
फोटो- 6 से 10 तक
बेतिया, संवाद सहयोगी: शहर को जाम से मुक्ति दिलाने के लिए बाइपास सड़क की योजना तैयार कर ली गई है। शहर के दक्षिणी छोर के बाहर अरेराज-बेतिया मुख्य मार्ग स्टेट हाईवे स्थित हरदिया मन से लेकर एमएच-727 मनुआपुल तक बाइपास सड़क निर्माण के लिए पथ निर्माण विभाग ने डीपीआर तैयार कर लिया है। करीब 13.5 किलोमीटर बाइपास सडक के निर्माण पर पांच करोड की राशि राशि खर्च की जाएगी। सड़क की चौड़ाई 5.5 मीटर होगी। दोनों तरफ 3-3 फीट फ्लैंक का निर्माण भी होगा। पथ निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता समलदेव कुमार ने बताया कि हरदिया मन से मनुआपुल तक होने वाली बाइपास सडक निर्माण का डीपीआर तैयार कर मुख्यालय को स्वीकृति के लिए भेज दिया गया है। स्वीकृति मिलते ही निविदा की प्रक्रिया जल्द की जाएगी। सड़क निर्माण के लिए जल संसाधन विभाग से एनओसी लिया जाएगा। बाइपास सड़क का निर्माण तिरहुत मुख्य नहर के सर्विस रोड पर होना है, इसलिए जल संसाधन विभाग से एनओसी लेना अनिवार्य है।

------------------------
---शहर में जाम की समस्या से मिलेगी मुक्ति
हरदिया मन से मनुआपुल तक होने वाली बाइपास सडक के निर्माण होने से शहर में बड़े व व्यावसायिक वाहनों का बहुत कम प्रवेश होगा। ऐसे वाहन, जिन्हें शहर में नहीं आना हो,वे सीधी बाइपास सड़क से आ-जा सकेंगे। इतना ही नहीं चार पहिया या अन्य वाहन बिना शहर में प्रवेश इस बाइपास सड़क से आ जा सकेंगे। जिलाधिकारी कुंदन कुमार ने शहर को जाम से निजात दिलाने व यातायात सुगम बनाने को लेकर कई बार स्थलीय जायजा लिया था। उसके बाद तिरहुत मुख्य नहर के सर्विस रोड पर अधिकांश सड़क निर्माण कराने को लेकर पथ निर्माण विभाग को निर्देश दिया था। डीएम के निर्देश के बाद विभाग ने डीपीआर तैयार कर मुख्यालय को स्वीकृति के लिए भेजा है।
-------------------------
18 बीईटी 7
हरदिया मन से मनुआपुल तक अगर बाइपास सड़क बन जाती है,तो सबसे ज्यादा लाभ शहरवासियों को होगी। जाम से मुक्ति मिलेगी। शहर में वाहनों का दबाव कम होगा। सभी बड़े वाहन बाइपास सड़क निकल जाएंगे।
--डॉ प्रवीण कुमार , चिकित्सक
-------------------------------
18 बीईटी 8
बाइपास सडक निर्माण से सबसे अधिक सुविधा छात्रों को होगी। प्रतिदिन छात्र स्कूल की छुट्टी के बाद जाम से जूझते हैं। एनएच पर स्टेशन चौक और हरिवाटिका का जाम छात्रों के लिए परेशानी का सबब बनता है।
-- नवीन कुमार तिवारी, शिक्षक
18 बीईटी 9
बाइपास सडक बनने से पटना व यूपी आने-जाने वालों को काफी आसानी होगी। वे शहर में प्रवेश करने की जगह सीधे बाइपास सडक से यात्रा कर सकेंगें। इतना ही नहीं शहर की जाम में फंसने से बच सकेंगे।
-- चिंटू सिंह , समाजसेवी
18 बीईटी 10
बाइपास सडक बनने से व्यवहार न्यायालय, समाहरणालय चौक,हरिवाटिका चौक,स्टेशन चौक,छावनी में प्रतिदिन लगने वाली घंटों जाम से निजात मिलेगी। वाहनों का आवागमन शहर में कम होगी।
--आनंद कुमार सिंह , समाजसेवी

अन्य समाचार