कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

आंदोलन और लाठी चार्ज के बाद भी नहीं हुई जलापूर्ति, परेशानी

आंदोलन और लाठी चार्ज के बाद भी नहीं हुई जलापूर्ति, परेशानी

आंदोलन और लाठी चलाकर भी नहीं दे पाया नप लोगों को पानी लगातार छठे दिन जलापूर्ति बंद रहने से परेशानी जागरण संवाददाता, शेखपुरा: शहर में सात घंटे तक जन आंदोलन और उस पर लाठियां बरसाकर भी नगर परिषद पानी नहीं दे पाया। नगर परिषद की लापरवाही और शिथिल कार्यशैली की वजह से 20 हजार की आबादी को लगातार छठे दिन भी पानी नहीं मिल पाया। उधर, शहर के मध्य क्षेत्र अहियापुर ,शकुनत, लालबाग, मारवाड़ी टोला व चकदीवान मोहल्लों में भी तीन दिनों से जलापूर्ति बंद है। इन क्षेत्रों में सर्किट हाउस पानी टंकी से जलापूर्ति होती है, जिसका मोटर तीन दिनों से जला हुआ है। जिन क्षेत्रों में छह दिनों से जलापूर्ति बंद है वहां दल्लू चौक के पास 20 साल पुराने पंप हाउस से बिना टंकी के सीधे पाइप लाइन से जलापूर्ति होती है। इसी को लेकर बुधवार को लोगों ने लगातार सात घंटे तक सड़क जाम रखा था और जाम हटाने के लिए प्रशासन ने महिलाओं पर बल प्रयोग किया था। गुरुवार को भी इन क्षेत्रों के लोग पानी के लिए भटकते रहे। नगर परिषद ने जिम्मेवारी के नाम पर पानी का टैंकर भेजा, मगर प्रत्येक परिवार को एक से दो बाल्टी पानी ही मिल सका। नगर परिषद के कनीय अभियंता ने बताया तत्काल कदम उठाते हुए तीन नया मोटर रांची से मंगाया गया है। दल्लू चौक के पार और सर्किट हाउस के पास पुराने के स्थान पर नया मोटर लगाया जा रहा है। रात तक पानी की आपूर्ति बहाल हो जाएगी। इधर, बुधवार को हुए सड़क जाम को लेकर हिरासत में ली गई महिलाओं को पुलिस ने बिना शर्त रिहा कर दिया। शेखपुरा के एसएचओ विनोद राम ने बताया सड़क जाम को लेकर किसी तरह की प्राथमिकी भी दर्ज नहीं हुई है। नगर परिषद को पेयजलापूर्ति को सुचारू करने के लिए कहा गया है।

अन्य समाचार