सभी लोगों को मिले योजनाओं का लाभ

26 Nov, 2019 12:30PM | R Kumar 44  | व्हाट्सप्प पर शेयर करें

अरवल। समाहरणालय के सभागार में सोमवार को जिलाधिकारी रविशंकर चौधरी की अध्यक्षता में जिला स्तरीय पदाधिकारियों के साथ समीक्षात्मक बैठक आयोजित की गई। डीआरसीसी की समीक्षा के तहत यह बताया गया कि बिहार स्टूडेन्ट क्रेडिट कार्ड योजना के तहत लक्ष्य के विरूद्ध 61.5 फीसद की उपलब्धि प्राप्त की गई है। इसी प्रकार मुख्यमंत्री निष्चय समूह सहायता भता योजना में 46.4 फीसद तथा कुशल युवा कार्यक्रम में 25.5 फीसद की उपलब्धि प्राप्त की गई है। डीआरसीसी के प्रबंधक श्रीमती गरिमा भारद्वाज द्वारा बताया गया कि सभी कॉलेज से तीनों योजनाओं के तहत चार हजार आवेदन प्राप्त हुए हैं। पंचायत स्तरीय विकास मेला में भी लगभग चार हजार आवेदन प्राप्त हुए। जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि इन सभी को योजनाओं से शीघ्र जोड़कर लाभान्वित कराया जाय। इससे लक्ष्य की प्राप्ति पूर्णरूप से हो जायेगा।



हाइवा की ठोकर से साइकिल सवार छात्र की मौत यह भी पढ़ें
स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के तहत बताया गया कि परिवार नियोजन का कार्य 21 नवंबर से चार दिसंबर तक पखवारा के रूप में मनाया जा रहा है। 28 नवंबर से चार दिसंबर तक सभी स्वास्थ्य केन्द्रों पर पुरूष एवं महिलाओं का क्रमष: नसबंदी एवं बंध्याकरण का कार्य युद्धस्तर पर संपन्न होगा। आशा द्वारा पुरूष एवं महिलाओं को स्वास्थ्य केन्द्र पर पहुंचाने का कार्य किया जाएगा। इसमें पुरूष नसबंदी पर विषेष ध्यान देना है। भारत आयुष्मान योजना के तहत अबतक कुल 32 हजार 831 गोल्डेन कार्ड का निर्माण कराकर उसका वितरन कर दिया गया है। डीएम द्वारा रविवार को भी कार्य कर इस योजना में तेजी लाने का निर्देश दिया गया । सदर अस्पताल के साथ सभी स्वास्थ्य केन्द्रों पर पर्याप्त मात्रा में दवा रहने की जानकारी दी गई।
खेल भवन के लिए शीघ्र जमीन उपलब्ध कराने का निर्देश अपर समाहर्ता को दिया गया। स्वर्ण जयंती स्वरोजगार योजना के तहत जिलान्तर्गत सभी जीविका दीदियों को बकरी पालन, गौ पालन, चरखा द्वारा सूत काटना, सतु निर्माण एवं पैकिग, अगरबती निर्माण आदि लघु उद्योगो से लाभान्वित कराने का निर्देश दिया गया। विकास मेला में प्राप्त सभी विभाग से संबंधित आवेदनों को शीघ्र निष्पादित करने का निर्देश दिया गया। सभी पदाधिकारियों को निदेषित किया गया कि आपके विभाग के तहत जमीन का कहीं भी अतिक्रमण किया गया हो तो इसके संबंध में अंचलाधिकारी के न्यायालय में परिवाद दायर करें। जिले के सभी दूकानों एवं होटलों का सर्वे कराकर बाल श्रमिकों को मुक्त कराते हुए आवष्यक कार्रवाई करने का निर्देश श्रम अधीक्षक को दिया गया। इसी प्रकार जिलाधिकारी द्वारा गव्य विकास, पशुपालन, आपूर्ति, सड़क निर्माण आदि विभागों की कार्यों की समीक्षा की गई तथा उचित दिशा निर्देश दिया गया। बैठक में अपर समाहर्ता संजीव कुमार सिंहा, सिविल सर्जन डॉ अरबिन्द कुमार के साथ सभी पदाधिकारी उपस्थित थे।
Posted By: Jagran
अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

संबंधित समाचार