अयोध्या को दहलाने की कोशिश करने वाले 3 दोस्त गिरफ्तार, बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में थे तीनो दोस्त।

19 Jan, 2024 11:20 PM | Saroj Kumar 344

अयोध्या में 22 जनवरी को श्री राम जन्मभूमि मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी। देश भर से लाखो भक्तो और प्रधानमंत्री मोदी सहित ढेरो VIPलोगो का जमावड़ा अयोध्या में होने वाला है। उससे पहले, यूपी एटीएस ने एक गैंगस्टर और उसके दो साथियों को पकड़ा है। इसमें मध्य प्रदेश और राजस्थान का गैंगस्टर शंकरलाल दुसाद और उसके दो साथी अजीत कुमार शर्मा और प्रदीप पुनिया शामिल हैं। बताया जा रहा है कि ये तीनो पिछले कई दिनों से अयोध्या में रेकी कर किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में थे। सभी आरोपियों को त्रिमूर्ति होटल के पास से गिरफ्तार किया गया है। एटीएस मुख्यालय में सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।


खालिस्तान समर्थक सुक्खा गैंग का करीबी है शंकरलाल दुसाद


एटीएस के मुताबिक, गैंगस्टर और उसके दो साथी सफेद रंग की स्कॉर्पियों में सवार थे। उन्होंने पकड़े जाने के डर से श्री राम का झंडा लगाया था। बताया जाता है कि शंकरलाल दुसाद खालिस्तान समर्थक गैंगस्टर सुखबिंदर गिल उर्फ सुक्खा गैंग का करीबी है। दोनों की व्हाट्सएप कॉल से बात होती थी। कहा तो यह भी जा रहा है कि सुक्खा ने गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के खिलाफ दुसाद को तैयार किया था।
सुखबिंदर सिंह की 2023 में कनाडा में हुई हत्या


एटीएस ने बताया कि सुखबिंदर सिंह की सितंबर 2023 में कनाडा में हत्या कर दी गई थी, जिसके लिए लॉरेंस बिश्नोई को जिम्मेदार माना जाता है। गैंगस्टर राजू ठेहट के मारे जाने के बाद उसके गैंग को दुसाद संचालित कर रहा था। दुसाद को विदेश में बैठे खालिस्तानी समर्थक हरमिंदर सिंह ने निर्देश दिया था कि वह अयोध्या के तमाम संवेदनशील स्थलों की रेकी कर नक्शा उसके पास भेजे, ताकि किसी बड़ी घटना को अंजाम दिया जा सके।


 

अन्य समाचार