छपरा- इंटर की परीक्षा देने आए परीक्षार्थियों को उतारने पड़े जूते-मोजे, जूते-मोजे उतारकर सेंटर में करायी गयी एंट्री, ठंड में हुए परेशान

01 Feb, 2024 03:46 PM | Saroj Kumar 490

बिहार के सारण जिले में इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा शुरू हो गई है। नकल रोकने और परीक्षा का शांतिपूर्ण आयोजन के लिए सुबह से ही पुलिस अधीक्षक ने परीक्षा केंद्रों पर जाकर जायजा लिया। परीक्षा का आयोजन दो पालियों में हुआ। परीक्षा केन्द्र में जूता-मोजा पहनकर आए परीक्षार्थियों को प्रवेश नहीं दिया गया। इस वजह से परीक्षार्थियों ने जूते-मोजे उतारकर सेंटर पर एंट्री की। बिना जूते-मोजे के परीक्षार्थी ठंड में परेशान होते नजर आए। आज 1 फरवरी बुधवार से शुरू हुई इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा 11 फरवरी 2023 तक चलेगी।


सारण जिले में बनाए गए 70 एग्जाम सेंटर
सारण जिले में 70 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं। इनमें सदर अनुमंडल क्षेत्र में 55, सोनपुर अनुमंडल क्षेत्र के 6 और मढ़ौरा अनुमंडल क्षेत्र के 9 परीक्षा केन्द्र शामिल हैं। परीक्षा का आयोजन दो पालियों में होगा। परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्र में जूता-मोजा पहन कर प्रवेश नहीं दिया गया है। एग्जाम सेंटर के मेन गेट पर ही केंद्र अधीक्षक, प्रतिनियुक्त दण्डाधिकारी और पुलिस बल की सहायता से परीक्षार्थियों जांच की गई, उनके एडिमिट कार्ड को देख कर परीक्षा कक्ष में एंट्री दी गई।


परीक्षा केंद्र पर लगाए गए सीसीटीवी कैमरा
परीक्षा केंद्र और उसके साथ सीसीटीवी लगाया गया है। इसके साथ ही सभी परीक्षा केंद्रों की वीडियोग्रॉफी कराने का निदेश दिया गया है। सदर एसडीओ अरुण कुमार ने बताया कि कदाचार के आरोप में गिरफ्तार किए गए अभिभावकों, परीक्षार्थियों के बिहार परीक्षा संचालन अधिनियम 1981 के अंतर्गत कार्रवाई की जाएगी। परीक्षा केन्द्रों के 500 गज की परिधि में दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 लागू रहेगी।

अन्य समाचार