कोरोना अपडेट
कुल केस
0
स्वस्थ हुए
0
मौत
0
हर राज्य के कोरोना अपडेट के लिए क्लिक करे

दो भाइयों के बीच मारपीट में जख्मी वृद्ध की मौत

22 Nov, 2020 12:30 AM | R Kumar 8

बेगूसराय। फफौत गांव में शुक्रवार की रात्रि दो सहोदर भाइयों के बीच हुई मारपीट की घटना में गंभीर रूप से घायल एक वृद्ध की मौत हो गई। मृतक फफौत गांव निवासी स्व. लखन महतो का 60 वर्षीय पुत्र दीपनारायण महतो उर्फ झबरी है। किसी भी संभावित खतरे को देखते हुए पुलिस प्रशासन चौकस है। जिसको लेकर कई थाने की पुलिस खोदावंदपुर पहुंच गई है। डीएसपी सत्येंद्र कुमार सिंह और पुलिस निरीक्षक दीपक कुमार खोदावंदपुर थाने में कैंप कर रहे हैं। शुक्रवार की रात्रि हुई थी मारपीट की घटना



पुत्र रामबालक महतो ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि शुक्रवार की संध्या में जब वह छठ घाट से लौट रहा था, तो महना बांध के समीप उसके चाचा रामनरेश महतो ने उसे रोका और विवाद करने लगे। राम नरेश महतो के साथ भूमि विवाद को ले फफौत निवासी जामुन महतो के पुत्र भीम महतो ने राम नरेश महतो का पक्ष लेते हुए उसके साथ मारपीट की। वहां मौजूद लोगों ने बीच बचाव कर मामला को शांत करा दिया। रात्रि लगभग 08 बजे उसके पिता दीप नारायण महतो दूध लेने गांव के दूध सेंटर गए थे। दूध सेंटर पर पहुंचकर उसके चाचा रामनरेश महतो, चाची राम पुकारी देवी, चचेरा भाई संतोष कुमार उसके पिता दीप नारायण महतो को दूध सेंटर से जबरन पकड़कर अज्ञात स्थान पर ले गए और उनके साथ मारपीट की। किसी ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। पुलिस उसके पिता दीप नारायण महतो और चाचा राम नरेश महतो को हिरासत में लेकर खोदावंदपुर थाना ले आई। इसकी जानकारी दीपनारायण के घर में नहीं दी गई। परिजन रात भर दीप नारायण महतो की तलाश करते रहे। हालत खराब होने पर ले जाया गया अस्पताल
85 कार्टन और 55 बोतल शराब के साथ तीन गिरफ्तार यह भी पढ़ें
शनिवार की सुबह अचानक दीपनारायण महतो की तबीयत बिगड़ने पर पुलिस उन्हें इलाज के लिए खोदावंदपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचायी। जहां चिकित्सकों द्वारा प्राथमिक उपचार कराकर पुलिस वापस थाना लेकर चली गई। परंतु कुछ ही घंटे बाद मरणासन्न स्थिति देख पुलिस दीपनारायण महतो को खोदावंदपुर सरकारी अस्पताल लेकर गई। जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इस घटना के बाद पुलिस सकते में आई और लाश को आनन फानन में बेगूसराय लेकर चली गई। घटना की सूचना पाकर मृतक के परिजन खोदावंदपुर थाने पहुंचे। परिजनों का कहना था कि जब पुलिस उन्हें हिरासत में लेकर थाने ले आई तो इसकी सूचना परिजनों को क्यों नहीं दी गई। देर से पुलिस इलाज कराने के लिए उन्हें अस्पताल ले गई, जिससे उनकी मौत हो गई। परिजनों में मचा कोहराम
दीपनारायण महतो की मौत से परिजनों में कोहराम मच गया। पत्नी चंपा देवी, दोनों पुत्र राम बालक महतो एवं हरेराम महतो, चारों पुत्रियां रामकुमारी, ललिता कुमारी, निर्मला कुमारी और विजय लक्ष्मी के रोने से माहौल गमगीन हो गया है। दो भाइयों के बीच मारपीट में वृद्ध गंभीर रूप से घायल हो गए थे, उन्हें इलाज के लिए खोदाबंदपुर पीएचसी लाया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।
डीएसपी सत्येंद्र कुमार सिंह

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

अन्य समाचार