कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:
Live Update: बिहार के हर जिला का कोरोना अपडेट, टीकाकरण और टेस्ट का डाटा देखे

गुरमीत चौधरी ने कोरोना से प्रभावित गरीबों की शिक्षा का उठाया ज़िम्मा, बनाएंगे IAS

हमारे देश में सबसे कठिन परीक्षा निस्संदेह आईएएस की परीक्षा है। यद्यपि हाल में चल रही कोविड-19 महामारी ने देश-विदेशों के जीवन में कहर बरपाया है, इसने शिक्षा के क्षेत्र में भी कई परेशानियां पैदा कर दी हैं क्योंकि कई छात्रों ने अपने प्रियजनों या घर में कमाई करने वाले सदस्यों को खो दिया है और इस वजह से आगे की पढ़ाई का खर्च उठाने में असमर्थ हैं।



इस बात को ध्यान में रखते हुए, गुरमीत चौधरी, जिन्हें उनके कोविड-19 राहत प्रयासों के लिए काफी सराहना प्राप्त हुई है, ने एक कदम और आगे बढ़ाया है। उन्होंने अब शिक्षा मंच, एम्पॉवर आईएएस के साथ भागीदारी की है, जो एक अनूठी पहल है।
इसका उद्देश्य भावी छात्रों को प्रशिक्षित करना है, जो सिविल सर्विसेस के क्षेत्र में प्रवेश करने के इच्छुक हैं। यह पहल उन्हें अपने सपनों को पूरा करने में सहायता करेगी और उनके प्रयासों में मार्गदर्शन देगी, वह भी बिना किसी लागत के। जिन उम्मीदवारों में आईएएस परीक्षा के लिए नामांकन करने का जुनून है और दुर्भाग्य से चल रही महामारी से आर्थिक रूप से प्रभावित हुए हैं, वे इन एक्टिव ट्रेनिंग प्रोग्राम्स का हिस्सा हो सकते हैं।
गुरमीत ने अपने ट्विटर हैंडल पर कहा, "कोविड से पीड़ित लोगों की मदद करने के अपने प्रयास में, हम एम्पॉवर आईएएस (https://empowerias.com/) के साथ अपनी साझेदारी की घोषणा करते हैं। गंभीर उम्मीदवारों के लिए यह विशेष दर्जे का बैच पूर्णतः निःशुल्क है, जिनकी कमाई का स्रोत इस महामारी के कारण प्रभावित हुआ है। इसके लिए अधिक विवरण जल्द ही साझा किया जाएगा।"
देश में बदलाव लाने में गुरमीत के अथक समर्थन के साथ, हम इस नेक विचार के लिए उनकी सराहना करते हैं। निस्संदेह वे और उनकी टीम इस कठिन समय में कोरोवेंजर्स हैं।
source: filmibeat.com

अन्य समाचार