कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

फालोअप: एसएसबी पर पथराव के बाद सीमा पर बढ़ाई चौकसी

संसू, सिकटी (अररिया): ईंट से भरी ट्रैक्टर को सिकटी बॉर्डर से भारत से नेपाल भेजने के क्रम में सोमवार की रात 09: 21 पर असामाजिक तत्वों द्वारा एसएसबी पर किए गए पथराव को लेकर सीमा पर गहमा गहमी का माहौल व्याप्त है। सीमा पर दोनों देश के तरफ से जवानों की संख्या बढ़ाई गई है और गश्त तेज कर दिया गया है। पहले की अपेक्षा सीमा की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। स्थिति को सामान्य करने के लिए दोनों देश के अधिकारियों द्वारा लगातार बैठक का दौर जारी है। बताया जा रहा है कि भारतीय सीमा से निकलकर नोमैंस लैंड पर ट्रैक्टर ट्रॉली खड़ा रहने के कारण ईंट लदी ट्रॉली को भारतीय जवान द्वारा सौंपने को कहां गया, जिसपर नेपाल एपीएफ के जवान राजी नहीं हुए।




---क्या है मामला-- एसएसबी 52वीं बटालियन सिकटी कंपनी के जवानों को गुप्त सूचना मिली कि तस्करी के माध्यम से भारत से नेपाल ईंट से लदी ट्रैक्टर ट्राली पिलर संख्या 160 के समीप से भेजा जा रहा है। झगड़े की शुरुआत तब हुई, जब ड्यूटी पर तैनात एसएसबी जवान ने भारत से नेपाल भेजें जा रहे ईंट से लदा ट्रैक्टर को नेपाल जाने से रोक दिया। एसएसबी जवान का इस तरह से रोकना असामाजिक तत्वों को नागवार गुजरा। जब तक एसएसबी के जवान स्थिति को समझ पाते असामाजिक तत्वों की भीड़ जवानों पर पथराव करने लगे। जिसमें पार्टी कमांडर सहायक उपनिरीक्षक उदय सिंह बुरी तरह जख्मी हो गए।
---एसएसबी जवान के साथ अभद्रता का आरोप---कुछ ही देर में असामाजिक तत्वों का एक बड़ा झुंड इकट्ठा होकर पहुंच गया। इस बात से एसएसबी के जवान एकदम अनजान थे। लिहाजा भीड़ में एसएसबी के जवान चारों ओर से अचानक घिर गए। आरोप है कि असामाजिक तत्वों की झुंड ने एसएसबी जवान के साथ अभद्र व्यवहार किया तथा चारों तरफ से पथराव जारी रखा। जब तक एसएसबी जवान कुछ समझ पाते तब तक ईंट से लदा ट्रैक्टर-ट्रॉली नोमेंस लैंड पर पहुंच चुका था। इस पूरे तमाशे में नेपाली सुरक्षाकर्मियों ने सहयोग नहीं किया। स्थानीय लोगों ने बताया कहा जा रहा है कि जब नेपाल सीमा पर असामाजिक तत्वों द्वारा भारतीय सुरक्षाकर्मियों के साथ गाली गलौज किया जा रहा था उस वक्त नेपाली सुरक्षाकर्मी तमाशबीन बनकर तमाशा भर देख रहे थे। उन्होंने अपने इर्द-गिर्द मौजूद भीड़ को समझा कर शांत कराने की कोई कोशिश नहीं की।
---सिकटी थाना में आवेदन दर्ज, चार नामजद----जवान उदय सिंह ने अपने लिखित प्राथमिकी में चार को नामजद अभियुक्त बनाया है। जिसमें मुरारीपुर पंचायत के वर्तमान मुखिया के लड़के मो आफताब आलम (45),मो वसीम(35) मो राजा(31) तीनो पिता वाजुद्दीन व मो इम्तियाज(25) पिता मो नसीम आलम शामिल है। वहीं अन्य दस पर अज्ञात प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। जिसमें भारत-नेपाल सीमा पर अवैध तस्करी, आन ड्यूटी सरकारी कर्मी पर हमला, सरकारी काम में बाधा उत्पन्न करने की बात कही गई है।
इस संबंध में सिकटी थानाध्यक्ष ओम प्रकाश ने जानकारी देते हुए बताया कि सहायक उपनिरीक्षक उदय सिंह के लिखित बयान पर चार लोगो को नामजद अभियुक्त बनाया गया है। मामले की पुष्टि की जा रही है। अनुसंधान के उपरांत विधि सम्मत कारवाई की जाएगी।
--क्या कहते है एसएसबी कमांडेंट---- एसएसबी 52वीं बटालियन के कमांडेट वीके वर्मा ने कहा कि सीमा पर स्थिति सामान्य है। सीमा की सुरक्षा हेतु जवान पूरी तरह मुस्तैद हैं। दोनों देशों के अधिकारियों द्वारा सीमा पर शांति बहाल को लेकर लगातार बैठक का दौर जारी है।
--
कोट
घटना की सूचना मिली है। ऐसी घटना से सीमावर्ती क्षेत्र में असहज स्थिति पैदा हो सकता है।जो भारत नेपाल संबंध के लिए ठीक नहीं है।दोषियों के विरुद्ध कड़ी कारवाई होगी।
पुष्कर कुमार एसडीपीओ, अररिया।

अन्य समाचार