कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:
A:सीजन सेल में लैपटॉप और मोबाइल पर पाए 50 % तक डिस्काउंट, click करे लिंक पर
F: सीजन सेल में पाए 70% डिस्काउंट , हर इलेक्ट्रॉनिक उपकरण पर, click करे लिंक

रणबीर कपूर गर्लफ्रेंड के साथ अलग रहना चाहते थे, पापा ऋषि कपूर ने दिया ये जवाब

मुंबई: बॉलीवुड के दिग्गज एक्टर ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) के बेटे रणबीर कपूर (Ranbir Kapoor) आज अपना 39वां बर्थडे मना रहे हैं. कपूर खानदान की परंपरा को आगे बढ़ाते हुए रणबीर भी एक से बढ़ कर एक फिल्में बॉलीवुड को दे रहे हैं. रणबीर अपनी फिल्मों के अलावा अपने रिलेशनशिप को लेकर भी काफी सुर्खियों में रहते हैं. इसके अलावा कई बार ऐसी खबरें आती थीं कि अपने पापा ऋषि से उनकी बॉन्डिंग अच्छी नहीं थी. ऋषि ने एक बार खुद अपने बेटे के साथ अपने रिश्तों के बारे में खुलासा करते हुए माना था कि पिता-पुत्र के बीच काफी दूरी थी.
सीजन सेल में लैपटॉप और मोबाइल पर पाए 50 % तक डिस्काउंट, click करे लिंक पर



ऋषि कपूर ने कई बरस पहले मुंबई मिरर को दिए एक इंटरव्यू में बताया था कि 'जब मैंने शादी के बाद अलग रहने का फैसला किया तो मेरे फादर ने मुझे स्पेस दिया, मैं भी रणबीर को वैसा ही स्पेस देता हूं'. जब वह अपनी गर्लफ्रेंड के साथ दूसरे घर में शिफ्ट होना चाहता था तो मैंने मना नहीं किया. वह एक अच्छा बेटा है, मेरी बात मानता है लेकिन मैं उसके करियर में किसी तरह का दखल नहीं देता. मुझे पता है कि मैंने रणबीर के साथ अपना रिलेशन खराब कर लिया है. इस बारे में नीतू अक्सर मुझे बताती रहती थी. हालांकि काफी देर हो चुकी है. हमारा रिश्ता कांच की दीवार की तरह है, हम एक दूसरे को देख सकते हैं, बात कर सकते हैं, बस. हम एक नया घर बना रहे हैं, जहां उसके और उसकी फैमिली के लिए काफी जगह होगी. तब तक जिंदगी ऐसे ही चलती रहेगी'.

ऋषि कपूर ने अपने बेटे के साथ अपने रिश्तों के बारे में बताया था. (File)
हालांकि ऋषि कपूर और रणबीर कपूर के रिश्ते समय के साथ काफी सुधर गए थे. 2018 में जब ऋषि का कैंसर डिटेक्ट हुआ तो रणबीर ने उन्हें तुरंत न्यूयॉर्क ले जाने का फैसला किया. टाइम्स को दिए एक इंटरव्यू में ऋषि ने बताया था कि 'रिएक्शन के लिए समय ही नहीं था. मैं दिल्ली में अपनी नई फिल्म के लिए छठे दिन शूटिंग कर रहा था तब मेरा बेटा दिल्ली आया, और प्रोड्यूसर से बीमारी के बारे में बताया. फिर मुझे मुंबई ले आए और वहां से न्यूयॉर्क ले गए. मेरे बेटे ने एक तरह से मुझे जबरदस्ती फ्लाइट में बैठाया और मुझे ले गया.'
बता दें कि न्यूयॉर्क में चले इलाज के बावजूद ऋषि कपूर को बचाया नहीं जा सका. 30 अप्रैल 2020 को सबको रुलाते हुए ऋषि दुनिया को अलविदा कह गए.

अन्य समाचार