कोरोना (India)
कुल केस:
स्वस्थ हुए :
मौत:

एमजी मोटर्स गाड़ियों के इंस्पेक्शन के लिए वर्कशॉप में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का करेगी इस्तेमाल

एमजी मोटर इंडिया ने अपनी वर्कशॉप में टेक्नोलॉजी का उपयोग करने के लिए एआई-पावर्ड स्टार्टअप कैमकॉम के साथ हाथ मिलाया है। इसका मुख्य मकसद व्हीकल्स की एआई-इनेबल्ड और इमेज बेस्ड इंस्पेक्शन करना है, साथ ही सर्विस और रिपेयर वर्क के लिए वर्कशॉप में पहुंचने वाली कारों का ऑटोमेटेड असेसमेंट करना है।

एमजी के अनुसार, यह कदम ऑपरेशंस के समय को कम करेगा और कस्मटर्स को बेहतर ट्रांसपरेंसी देगा। कंपनी की योजना इस टेक्नोलॉजी को भारत में अपनी सभी वर्कशॉप में इस्तेमाल करने की है।

एमजी मोटर इंडिया के मुख्य चीफ कमर्शियल ऑफिसर गौरव गुप्ता ने इस साझेदारी के बारे में बात करते हुए बताया कि, "एमजी मोटर में हम कार डेवेलपमेंट और सर्विसेज़ की हर प्रक्रिया में भविष्य की तकनीकों को एकीकृत करने की कल्पना करते हैं। एमजी मोटर की सबसे बड़ी खासियत इनोवेशन है और हम एमजी डेवलपर प्रोग्राम के माध्यम से स्टार्टअप्स के साथ साझेदारी करके कारों में नई तकनीक देने पर काम करते हैं। कैमकॉम के साथ हमारी पार्टनरशिप कस्टमर्स को हमारे सर्विस सेंटर पर एआई-बेस्ड कार निरीक्षण मॉड्यूल से परिचित कराएगी।"
कैमकॉम के को-फाउंडर अजित नायर ने बताया है कि यह काफी उल्लेखनीय है कि एमजी डेवलपर प्रोग्राम में हमारी भागीदारी एक बिज़नेस पार्टनरशिप में बदल गई है। यह सर्विस प्रक्रिया में पारदर्शिता लाकर कस्टमर सर्विस एक्सपीरिएंस में क्रांति लाने की दिशा में एक इंडस्ट्री फर्स्ट स्टेप है। एमजी के साथ हमारी पार्टनरशिप ऑटोमोबाइल सेगमेंट में हमारे विकास की तरफ एक बड़ा कदम है।
एमजी डेवलपर प्रोग्राम एंड ग्रांट के जरिये कंपनी ने अपने इनोवेशन को शोकेस करने के लिए 184 उद्यमियों को एनेबल किया है। डेवलपर्स के लिए इनोवेशन प्लेटफॉर्म विकसित करने की यह अनूठी पहल इलेक्ट्रिक वाहनों और कंपोनेंट्स, नेविगेशन टेक्नोलॉजी, कनेक्टेड मोबिलिटी और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आदि जैसी कैटेगरी के स्टार्टअप को अवसर प्रदान करती है। एमजी ने कुछ स्टार्टअप्स के साथ साझेदारी की है ताकि उनकी टेक्नोलॉजी को एमजी की कारों में एकीकृत किया जा सके।
एमजी एस्टर को इन एसेसरीज से बनाएं और भी खास, देखिए सभी की प्राइस लिस्ट

अन्य समाचार